``` अब 12 भाषाओं में MBA करने का ऑप्शन, फीस भी काफी कम, पढ़ें पूरी डिटेल - टाइम्स ऑफ़ हिंदी
आपका स्वागत है! टाइम्स ऑफ़ हिंदी पर रंग-बिरंगी ख़बरों की दुनिया में!

अब 12 भाषाओं में MBA करने का ऑप्शन, फीस भी काफी कम, पढ़ें पूरी डिटेल

मोहित शर्मा/ करौली. बिजनेस क्षेत्र में कैरियर बनाने की सोच रहे छात्रों के लिए अच्छी खबर है. वे छात्र जो महंगी फीस और अंग्रेजी के अलावा अन्य भाषाओं के डिग्री नहीं ले पाते हैं। उनके लिए इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय ने मास्टर आफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (M.B.A) कोर्स को कम फीस में कराने का निर्णय लिया है। इग्नू की इस योजना से बिजनेस डिग्री से वंचित रहने वाले छात्रों का भी सपना साकार हो सकेगा। इग्नू के द्वारा इस साल लांच किया गया यह पाठ्यक्रम अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद से भी मान्यता प्राप्त है।

करौली के राजकीय कॉलेज के प्रोफेसर और इग्नू के समन्वयक रवींद्र मीणा ने बताया कि इस साल से इग्नू की प्रवेश प्रक्रिया में एमबीए कोर्स भी शामिल हो चुका है। जिससे अब छात्र डिस्टेंस लर्निंग से अन्य डिग्री, डिप्लोमा की भांति एमबीए कोर्स भी कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि सबसे अच्छी बात तो यह है कि इग्नू की प्रवेश प्रक्रिया का माध्यम सरल है। जिसमें आपके लिए पढ़ाई के भी दो ऑप्शन होंगे। पहला मोड डिजिटल ऑनलाइन लर्निंग मोड और दूसरा मोड ओडीएल मोड़ जिसका पाठ्यक्रम आपको यूनिवर्सिटी द्वारा उपलब्ध कराया जाएगा।

डिग्री की मार्केट वैल्यू भी अच्छी

साथ ही इग्नू में एमबीए कोर्स की फीस भी अन्य यूनिवर्सिटी की तुलना में बहुत कम है। इग्नू में एमबीए के चारों सेमेस्टर की फीस कुल 62 हजार रुपए हैं। जिसे आप जमा भी चारों सेमेस्टर में करा सकते हैं। इग्नू के समन्वयक प्रो.रवींद्र कुमार मीणा ने यह भी बताया कि इग्नू अपने आप में एक मानक और बड़ा विश्वविद्यालय हैं। इग्नू से यदि डिग्री, डिप्लोमा भी किया जाता है तो उसकी मार्केट वैल्यू भी अच्छी होती है। वहीं, इग्नू से एमबीए करने पर किसी प्रवेश परीक्षा को पास करने की भी आवश्यकता नहीं है। स्नातक में 45 से 50 फीसदी अंक प्राप्त करने वाले छात्र ऑनलाइन आवेदन कर सीधा प्रवेश ले सकते हैं।

हिंदी के साथ 11 भाषाओं में कर सकते हैं एमबीए

सबसे खास बात यह है कि इग्नू से आप हिंदी के अलावा 11 भारतीय भाषाओं में एमबीए कर सकते हैं। इग्नू में एमबीए का पाठ्यक्रम 12 भाषाओं में उपलब्ध होगा। जिससे क्षेत्रीय भाषा बोलने वाले छात्रों के लिए भी पाठ्यक्रम पढ़ना आसान होगा। हिंदी के अलावा इग्नू में एमबीए कोर्स तेलुगू, उड़ीसा, तमिल, बंगाली, मराठी, गुजराती, मलयालम, उर्दू, कन्नड़ और असमिया भाषा में उपलब्ध है।

10 अगस्त आवेदन की अंतिम तिथि
इग्नू के समन्वयक रविंद्र कुमार मीणा ने बताया कि इस साल प्रवेश प्रक्रिया की अंतिम तिथि भी द्वारा 31 जुलाई से बढ़ाकर 10 अगस्त कर दी गई है। ऐसे में इच्छुक छात्र इग्नू की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर अपना आवेदन कर सकते हैं।

Tags: IGNOU, Local18, Rajasthan news

Khabar Bazaar Perspective:

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय ने एमबीए कोर्स की कीमत को कम करके कई छात्रों के लिए यह एक अच्छा अवसर प्रदान किया है। छात्र अब 12 भाषाओं में एमबीए कर सकते हैं और उन्हें अन्य डिग्रीधारकों के साथ मुकाबला करने का मौका मिलेगा। इसके अलावा IGNOU की प्रवेश प्रक्रिया भी सरल है और छात्रों को दो ऑप्शन की व्यवस्था दी गई है – डिजिटल ऑनलाइन लर्निंग मोड और ओडीएल मोड। इस योजना से हिंदी और अन्य भाषाओं के छात्रों को अपनी राष्ट्रीय भाषा में उच्चतर शिक्षा प्राप्त करने का अवसर मिलेगा।

Share this article
Shareable URL
Prev Post

कनाडाई PM जस्टिन ट्रूडो की 18 साल बाद टूटी शादी, बोले- मैं और सोफी हो रहे अलग

Next Post

बिजली चोरी का अनोखा आईडिया! तिकड़मबाजी देखकर विभाग के कर्मचारियों का ठनका माथा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read next

लखनऊ:-बॉलीवुड में अपने हुनर की छाप छोड़ रहे ‘चबूतरा थियेटर पाठशाला’ के नन्हें कलाकार

रिपोर्ट: अंजलि सिंह राजपूत, लखनऊ रंगमंच को फिल्म जगत में पहचान बनाने और अभिनय की पहली सीढ़ी माना जाता है।…

किसान ने इस काम से अपनी जिंदगी में घोली मिठास, सालाना होती है 25 लाख की कमाई..

शक्ति सिंह/कोटा. कोटा जिले के 10वीं पास एक किसान ने पारंपरिक खेती छोड़कर मधुमक्खी पालन कर अपनी तकदीर बदल ली है,…

थानेदार ने शराब पीकर ससुराल में मचाया जमकर गदर, साले का अंगूठा चबा डाला

हाइलाइट्स अलवर के शिवाजी पार्क थाना इलाके का है मामला पुलिस मेडिकल करवाने ले गई तो वहां भी कर दिया बखेड़ा अलवर.…