``` ये हांडी चिकन है इतना सॉफ्ट कि बिना दांत वाले भी आसानी से खा लें, फटाफट नोट करें लोकेशन - टाइम्स ऑफ़ हिंदी
आपका स्वागत है! टाइम्स ऑफ़ हिंदी पर रंग-बिरंगी ख़बरों की दुनिया में!

ये हांडी चिकन है इतना सॉफ्ट कि बिना दांत वाले भी आसानी से खा लें, फटाफट नोट करें लोकेशन

शिखा श्रेया/रांची. झारखंड की सड़कों का स्ट्रीट फूड लिट्टी चोखा और दुस्का ही नहीं, बल्कि हांडी चिकन भी लोगों के बीच काफी फेमस है.आपको कई जगह रांची की सड़कों पर हांडी चिकन बनते दिख जाएगा. इसे बनाने का तरीका भी थोड़ा साधारण चिकन से अलग होता है.आज हम आपको एक ऐसी दुकान के बारे में बताने वाले हैं, जिसके हांडी चिकन को खाने के लिए लोग 2 से 3 घंटे तक इंतजार करते हैं.

दरअसल, हम बात कर रहे हैं मां संतोषी भोजनालय की, जो रांची के पांड्रा में स्थित है. संचालक राकेश ने बताया कि यहां पर सुबह 9 बजे से ही लोगों की लाइन लग जाती है. हांडी चिकन बनने में काम से कम 2 से 3 घंटे का वक्त लगता है. ऐसे में लोगों को दो घंटे इंतजार हांडी चिकन के लिए करना पड़ता है, क्योंकि यहां का टेस्ट आपको कहीं नहीं मिलेगा. यहां का चिकन बिल्कुल आपको अपने गांव की याद दिला देगा.

हांडी में तैयार होता है चिकन
राकेश बताते हैं कि हांडी चिकन बनाने के लिए हम बहुत अधिक मसालों का प्रयोग नहीं करते, बल्कि, जो हमारे ट्रेडिशनल मसाले हैं जो हमारे दादा परदादा खाते आ रहे हैं, उन्हीं का प्रयोग करते हैं. कोशिश रहती कि बाहर का मसाला न के बराबर इस्तेमाल करें.

ऐसे बनाएं हांडी चिकन
उन्होंने आगे बताया कि हांडी चिकन बनाने के लिए सबसे पहले तो चिकन को दही और खड़े मसाले का मिश्रण डालकर मैरिनेड करने के लिए करीब 1 घंटे तक छोड़ना पड़ता है. इससे सारे मसाले का फ्लेवर चिकन में अच्छे से ऑब्जर्व हो जाता है. फिर हांडी को कोयले की आंच पर गर्म करें. उसमें तड़का व प्याज डालकर अच्छे से भूना जाता है.

एक हांडी में 1 किलो चिकन
राकेश बताते हैं 1 किलो हांडी में कुल 16 पीस चिकन डाला जाता है. हांडी में चिकन डालने के बाद इसे पूरी तरह पैक कर दिया जाता है और कोयले की आंच में दो-तीन घंटे के लिए छोड़ दिया जाता है. इस चिकन की खास बात यह है कि हम इसमें किसी तरह का कोई सीक्रेट मसाला या फिर रंग या फ्लेवर का इस्तेमाल नहीं करते. इसलिए लोग इसे देहाती चिकन भी कहते हैं. इसको खाने पर आपको अपने गांव घर कि याद आ जायेगी. उन्होंने आगे बताया चिकन को सिर्फ अच्छे से बनाना ही काफी नहीं होता है. बल्कि, चिकन की क्वालिटी भी स्वाद के लिए काफी मायने रखती है.फ्रेश चिकन काटकर और अच्छे से धोकर इसे पकाया जाता है.

बिना दांत वाले भी खा लें चिकन
इस हांडी चिकन का स्वाद लेने आए निशिकांत बताते हैं कि मैं अक्सर लंच में यहां का हांडी चिकन खाने आता हूं. यहां के चिकन की खास बात यह है कि यह मुंह में जाते ही घुल जाता है,बिना दांत वाले लोग भी खा लें, स्वाद काफी लाजवाब है. एक बात और है कि यहां आंखों के सामने और बड़े साफ सफाई से चिकन बनता है. अगर आप भी चिकन का लुफ्त उठाना चाहते हैं तो आ जाइए रांची के पांड्रा स्थित मां संतोषी भोजनालय में, जो पांड्रा के पेट्रोल पंप के ठीक बगल में स्थित है. आप चाहे तो इस नंबर पर 7209672047 भी संपर्क कर सकते हैं.

Tags: Chicken, टाइम्स ऑफ़ हिंदी, Jharkhand news, Latest hindi news, Local18, Ranchi news

Share this article
Shareable URL
Prev Post

हुंडई के इस फैसले से मारुति-टाटा की बोलती हुई बंद, पैसेंजर सेफ्टी के लिए उठाया बड़ा कदम

Next Post

खलनाय‍िका बना द‍िया है माई लॉर्ड… जानें PCS अफसर ज्‍योत‍ि मौर्या ने हाईकोर्ट में ऐसा क्‍यों कहा?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read next

जांजगीर की बटाटा पापड़ी नहीं खाई तो क्या खाया, एक बार खाएंगे दीवाने हो जाएंगे, बोलेंगे वाह !

लखेश्वर यादव/ जांजगीर चांपा: भारत के लोग गुपचुप, चाट, समोसा सबसे ज्यादा पसंद करते हैं. इसी के साथ कुछ अलग…

डाई या नैचुरल! पानी में धोते हुए नीला रंग क्यों छोड़ता है बैंगनी पत्ता गोभी, जानें हेल्थ एक्सपर्ट की राय

Why Purple Cabbage Flip Blue Color After Wash: कहा जाता है जितनी भी रंग-बिरंगी सब्जियां होती हैं, वह अन्य हरी…