``` RBI MPC Meeting : आरबीआई ने वित्‍त वर्ष 2024 के लिए GDP वृद्धि के अनुमान को 6.5 फीसदी पर बरकरार रखा - टाइम्स ऑफ़ हिंदी
आपका स्वागत है! टाइम्स ऑफ़ हिंदी पर रंग-बिरंगी ख़बरों की दुनिया में!

RBI MPC Meeting : आरबीआई ने वित्‍त वर्ष 2024 के लिए GDP वृद्धि के अनुमान को 6.5 फीसदी पर बरकरार रखा

हाइलाइट्स

जुलाई-सितंबर तिमाही के लिए जीडीपी ग्रोथ अनुमान में कोई बदलाव नहीं किया है.
एमपीसी मीटिंग में रेपो रेट को भी 6.5 फीसदी पर बरकरार रखा गया है.
केंद्रीय बैंक ने आखिरी बार रेपो रेट में फरवरी मे बदलाव किया था.

नई दिल्ली. भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने चालू वित्त वर्ष के लिये जीडीपी वृद्धि (GDP Growth Rate) के अनुमान को 6.5 प्रतिशत पर बरकरार रखा है. भारतीय रिजर्व बैंक की मॉनेटरी पॉलिसी कमेटी (RBI MPC Meeting) की द्विमासिक बैठक के बाद आरबीआई गर्वनर शक्तिकांत दास (RBI Governor Shaktikanta Das) ने यह जानकारी दी. केंद्रीय बैंक ने महंगाई को सबसे बड़ी चुनौती बताया है. महंगाई अभी भी चार फीसदी से ऊपर चल रही है.

आरबीआई गवर्नर की अध्यक्षता वाली छह सदस्यीय मौद्रिक नीति समिति (MPC) की बैठक 4-6 अक्‍टूबर को हुई. बैठक के बाद आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने मीटिंग में लिए गए फैसलों की जानकारी दी गई. मौद्रिक नीति समिति ने इस बार भी ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है और रेपो रेट को 6.5 फीसदी पर बरकरार रखा है.

ये भी पढ़ें-  RBI Monetary Policy: महंगे लोन की चिंता से अभी राहत, आरबीआई ने रेपो रेट में नहीं किया बदलाव, महंगाई पर काबू का असर

जुलाई-सितंबर तिमाही के लिए ग्रोथ अनुमान में बदलाव नहीं
केंद्रीय बैंक ने चालू वित्‍त वर्ष की दूसरी तिमाही यानी जुलाई-सितंबर तिमाही के लिए जीडीपी ग्रोथ अनुमान में कोई बदलाव नहीं किया है और इसे 6.5 फीसदी पर बरकरार रखा है. आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा है कि चालू वित्‍त वर्ष की तीसरी तिमाही (अक्‍टूबर-दिसंबर) में जीडीपी विकास दर 6.0 फीसदी रह सकती है. पिछली एमपीसी मीटिंग में भी केंद्रीय बैंक ने तीसरी तिमाही में जीडीपी के इसी दर से बढ़ने का अनुमान लगाया था. जनवरी-मार्च तिमाही के जीडीपी ग्रोथ अनुमान में भी कोई बदलाव नहीं किया गया है और इसे 5.7 फीसदी पर बरकरार रखा गया है.

ग्लोबल इकोनॉमी में सुस्ती
आरबीआई गर्वनर शक्तिदास कांत ने कहा कि मौजूदा वित्‍तीय हालात और जियोपॉलिटिकल संकट के चलते ग्लोबल इकोनॉमी में सुस्ती देखी जा रही है. अगर भारत की बात करें तो दूसरी तिमाही में इंडस्ट्रियल सेक्‍टर में रिकवरी आई है. कंस्‍ट्रक्‍शन गतिविधियां मजबूत हैं. सरकारी कैपेक्‍स सपोर्ट के चलते निवेश का सेंटीमेंट बना हुआ है. उन्‍होंने कहा कि घरेलू मांग मजबूत होने से भारतीय अर्थव्‍यवथा जुझारू बनी हुई है.

लगातार चौथी बार रेपो रेट में बदलाव नहीं
भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने लगातार चौथी बार रेट में कोई बदलाव नहीं किया है और आज की एमपीसी मीटिंग में भी इसे 6.5 फीसदी पर बरकरार रखा गया है. फरवरी में आखिरी बार आरबीआई ने रेपो रेट में बदलाव कर 6.5 फीसदी किया था. बुधवार से शुरू हुई तीन दिन की द्विमासिक मौद्रिक नीति समिति (RBI MPC) की बैठक के बीच विशेषज्ञों ने उम्मीद जताई थी कि महंगाई और अन्य वैश्विक कारणों के चलते भारतीय रिजर्व बैंक रेपो रेट में किसी तरह का बदलाव नहीं करेगा.

Tags: व्यापार समाचार, GDP वृद्धि, RBI, RBI गवर्नर, RBI नीति

Share this article
Shareable URL
Prev Post

फिर नहीं मिलेगी ऐसी डील! सैमसंग के महंगे-सस्ते सभी फोन पर मिल रहा है छप्परफाड़ डिस्काउंट

Next Post

बॉलीवुड विलेन, जिसने सनी देओल पर चलाई थी तलवार, कट गया था ‘तारा सिंह’ का अंगूठा, HIT फिल्म से जुड़ा है दर्दनाक किस्सा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read next

घर बैठे फ्रेंचाइजी लेकर फ्री में शुरू करें अपना कारोबार, हर महीने होगी लाखों में कमाई, जानें कैसे?

नई दिल्ली. आज हम आपको एक ऐसे कारोबार (बिज़नस आईडिया) के बारे में बता रहे हैं, जहां आप बिना कुछ पैसे लगाएं शुरू…

विदेशी युवाओं में बढ़ी ‘भारत की खोज’, इंटरनेट पर सबसे ज्‍यादा सर्च हो रहा ‘आपणो देश’

हाइलाइट्स विदेशी युवाओं के बीच भारत की खोज में दिलचस्पी बढ़ी है। भारतीय पर्यटन की ओर उनका रुझान तेजी से बढ़ रहा…