``` रेड... ब्लैक... ग्रीन यहां 3 कलर में मिलती है पाव भाजी, मसालों से बदलता है रंग, स्वाद भी लाजवाब - टाइम्स ऑफ़ हिंदी
आपका स्वागत है! टाइम्स ऑफ़ हिंदी पर रंग-बिरंगी ख़बरों की दुनिया में!

रेड… ब्लैक… ग्रीन यहां 3 कलर में मिलती है पाव भाजी, मसालों से बदलता है रंग, स्वाद भी लाजवाब

रितिका तिवारी/ भोपाल. आज कल युवाओं को अलग-अलग डिश पसंद आती है. खासकर ऐसे पकवान जिनका स्वाद और नाम कुछ हट के हो. ऐसी ही एक अतरंगी डिश भोपाल में आई है, जिसका नाम ‘ब्लैक पाव भाजी’ है. यह पावभाजी ब्लैक इस लिए कही जाती है, क्योंकि इसकी भाजी काले रंग की होती है. अगर आप तीखा खाने के शौकीन हैं, तो यह डिश आपके लिए बेहतरीन ऑप्शन है.

यहां पर आप कई सारी फ्यूजन डिश टेस्ट कर सकते हैं. दुकान के मालिक राहुल जैन ने बताया कि उनको यह आइडिया मुंबई के स्ट्रीट फूड से आया. इसके बाद उन्होंने भोपाल में भी लोगों को ये टेस्ट सर्व करने के बारे में सोचा. लोगों को इसका स्वाद बहुत ही पसंद आता है. इस पावभाजी में एक स्पेशल मसाला डाला जाता है जो इसको अलग और बेहतरीन बनाता है. यह मसाला इस डिश का सीक्रेट है.

कैसे बनती है यह पावभाजी
शॉप के शेफ ने बताया कि ब्लैक पावभाजी यहां की बेस्ट सेलिंग डिश है, जिसमें वो फ्रेश सब्जियों का इस्तेमाल कर के भाजी तैयार करते हैं. यहां पर और भी प्रकार की पाव भाजी मिलती है. जैसे रेड पावभाजी, ब्लैक पाव भाजी, और ग्रीन पाव भाजी. हर रंग का अपना एक स्वाद होता है. साथ ही इसमें डाले मसाले भी अलग होते हैं. शेफ ने इस डिश के बारे में कहा कि ब्लैक पावभाजी में वो ढेर सारी सब्जियां डालते हैं. साथ में अपने स्पेशल मसाले डालते हैं. बताया कि मसालों की वजह से भाजी का रंग आता है, इसमें कोई भी प्रकार का फूड कलर नहीं डाला जाता है.

ये है दुकान की लोकेशन और रेट
शॉप ऑनर राहुल जैन ने बताया कि इस रेस्टोरेंट की शुरुआत उन्होंने 2 साल पहले स्ट्रीट फूड को बढ़ावा देने के लिए की थी. मुंबई के स्ट्रीट फूड का स्वाद भोपाल तक लाने का उनका ये प्रयास सफल रहा. ब्लैक पावभाजी अभी यहीं पर मिलती है, जिसकी कीमत 120 रुपये से शुरू होती है और 180 रुपये तक जाती है. जिसमें आप पाव भाजी को अपने हिसाब से कस्टमाइज भी करवा सकते हैं. ये पाव भाजी आपको मिनाल के राज बिजनेस पार्क नंबर 3 के शॉप नंबर-8 में केयांश सिगड़ी डोसा के नाम से मिल जाएगी, जो मिनाल के गेट नंबर 2 के पास स्थित है.

टैग: भोपाल समाचार, फूड १८, लोकल१८, स्ट्रीट फूड

Share this article
Shareable URL
Prev Post

Uttarakhand Tourism: गर्मियों में घूमने के लिए पिथौरागढ़ की ये 5 जगह हैं बेस्ट

Next Post

Ayodhya Ramleela: पूनम ढिल्लो बनेंगी शबरी, सुनील पाल होंगे नारद, सांसद रवि किशन निभाएंगे यह किरदार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read next

डाई या नैचुरल! पानी में धोते हुए नीला रंग क्यों छोड़ता है बैंगनी पत्ता गोभी, जानें हेल्थ एक्सपर्ट की राय

Why Purple Cabbage Flip Blue Color After Wash: कहा जाता है जितनी भी रंग-बिरंगी सब्जियां होती हैं, वह अन्य हरी…

यह है ऋषिकेश की 56 साल पुरानी नमकीन की दुकान, खाने के लिए अभी भी लगती है लाइन

रिपोर्ट- ईशा बिरोरियाऋषिकेश. ऋषिकेश जितना अपने नैसर्गिक सौंदर्य के लिए प्रसिद्ध है उतना ही अपने खान पान के लिए…

लखनऊ में बना अनोखा हलवा; खाने से मुंह मीठा नहीं बल्कि होगा तीखा, स्वाद ऐसा जो कानों से निकाल देगा धुआं

अंजलि सिंह राजपूत/लखनऊ : हलवे का नाम सुनते ही आपके मुंह में भी पानी आ जाता होगा. हलवा मतलब बेसन, सूजी, आटा या…