``` Uttarakhand Tourism: गर्मियों में घूमने के लिए पिथौरागढ़ की ये 5 जगह हैं बेस्ट - टाइम्स ऑफ़ हिंदी
आपका स्वागत है! टाइम्स ऑफ़ हिंदी पर रंग-बिरंगी ख़बरों की दुनिया में!

Uttarakhand Tourism: गर्मियों में घूमने के लिए पिथौरागढ़ की ये 5 जगह हैं बेस्ट

हिमांशु जोशी/पिथौरागढ़: मैदानी इलाकों में गर्मी बढ़ने के साथ लोग निकल पड़ते हैं पहाड़ों की सैर की ओर. यह समय उत्तराखंड के तमाम हिल स्टेशनों में पर्यटन कारोबार के लिए उचित माना जाता है. पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले में भी लोग गर्मी से राहत पाने के लिए पहुँचते हैं, यहाँ तमाम ऐसी खूबसूरत जगहें हैं जो आपकी गर्मियों की छुट्टियों को यादगार बना देंगी. आज इस रिपोर्ट में कुछ ऐसी ही जगहों के बारे में हम बात करेंगे जहां सैलानी भीड़भाड़ से दूर हिमालय के सौंदर्य के साथ अपना वक्त शांति के साथ बिता सकें.

मुनस्यारी

सबसे पहले बात करते हैं विश्वप्रसिद्ध पर्यटन स्थल मुनस्यारी की. मुनस्यारी पिथौरागढ़ का सबसे जाना माना पर्यटक स्थल है जिसे हिमनगरी भी कहा जाता है. मुनस्यारी की पिथौरागढ़ से दूरी लगभग 100 किलोमीटर है और टैक्सी से यहाँ आसानी से पहुँचा जा सकता है. यहाँ देश का पहला लाइकेन गार्डन भी बनाया गया है. इसी जगह ट्रैकिंग के लिए फेमस खलिया टॉप और मिलम ग्लेशियर मौजूद है और यही से नंदा देवी बेस कैंप तक जाया जाता है.

यहाँ पर्यटकों को रहने के लिए होटल और होमस्टे की सुविधा मिल जाती है, यहाँ पहुँचे पर्यटक इसकी खूबसूरती देख दंग रह जाते हैं. बंगाल से पिथौरागढ़ पहुँचीं पर्यटक साक्षी और कृतिका कहती हैं कि यहाँ के पहाड़ उन्हें बेहद पसंद हैं और मुनस्यारी भारत की सबसे खूबसूरत जगहों में से एक है.

कैलाश मानसरोवार के रास्ते में पड़ती है व्यास वैली

अब बात करते हैं पिथौरागढ़ की सबसे अद्भुत जगह की जिसका नाम है व्यास वैली. व्यास वैली चीन सीमा से लगा हुआ हिमालयी इलाका है और इसी जगह मौजूद है पवित्र आदि कैलाश और ॐ पर्वत और यहीं से होकर कैलाश मानसरोवर पहुँचा जाता है. अब यहाँ सड़क मार्ग बन जाने से पर्यटकों को सुविधा मिलने लगी है, यहाँ के होमस्टे लोगों को खूब पसंद आते हैं.

दारमा वैली

तीसरे नम्बर पर हम बात करेंगे दारमा वैली की. दारमा वैली में पिथौरागढ़ का प्रसिद्ध पंचाचूली पर्वत है जिसका दीदार करने देश के कोने कोने से लोग पहुँचते हैं. सड़क खुलने के बाद यहाँ पर्यटक पहुँचने लगे हैं. हिमालय की गोद में बसी दारमा वैली से पंचाचूली पर्वत का सा- साफ नजारा हर किसी को लुभाता है, दारमा वैली गर्मियों के लिए सबसे उपयुक्त जगह है.

चौकोड़ी

अब बात करेंगे उत्तराखंड के सबसे खूबसूरत हिल स्टेशन चौकोड़ी की. चौकोड़ी पिथौरागढ़ जिले की बेरीनाग तहसील में आने वाला इलाका है जहां की शांत वादियां पर्यटकों को खूब पसंद आती है यहाँ से कुमाऊं की हिमालयी चोटियों का नजारा साफ साफ देखा जा सकता है. चौकोड़ी अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए काफी प्रसिद्ध है जहाँ अब होमस्टे की सुविधा भी पर्यटकों को मिल रही है.

Tags: पिथौरागढ़ समाचार, उत्तराखंड समाचार

मुनस्यारी, व्यास वैली, दारमा वैली, और चौकोड़ी उत्तराखंड के प्रमुख पर्यटन स्थल हैं जहां गर्मियों में आप अपनी छुट्टियों का आनंद उठा सकते हैं. यहाँ पर्यटकों को प्राकृतिक सौंदर्य और शांति का अनुभव होता है. उत्तराखंड पहाड़ों में स्थित इन जगहों की सुंदरता देखकर आप आश्चर्यचकित हो जाएंगे. इन सभी जगहों में आपको होमस्टे और होटलों की सुविधा मिलेगी, जहां आप विश्राम कर सकते हैं और लोकल खाद्य पदार्थों का स्वाद ले सकते हैं.

Share this article
Shareable URL
Prev Post

Rajasthan Election 2023: कांग्रेस में सियासी हलचल, MLA अनिल शर्मा का विरोध, जयपुर निकले कार्यकर्ता

Next Post

रेड… ब्लैक… ग्रीन यहां 3 कलर में मिलती है पाव भाजी, मसालों से बदलता है रंग, स्वाद भी लाजवाब

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read next

बिजी लाइफ में चाहिए थोड़ा सा सुकून? इस बार बना लें कोयम्बटूर घूमने का प्लान, 4 शांतिपूर्ण जगहों का करें दीदार

हाइलाइट्स भगवान मुरुगन को समर्पित मरुधमलाई हिल मंदिर बहुत प्रसिद्ध है. कोयम्बटूर का वैदेही फॉल्स फेमस टूरिस्ट…

पहली बार लेने जा रहे हैं कार? परफेक्ट हैं ये गाड़ियां, 36 का देंगी माइलेज

हाइलाइट्स पहली बार कार लेने के दौरान किफायती कार का चयन करना चाहिए. ऐसी कार खरीदनी चाहिए जिसका माइलेज बेहतर हो.…

फुल हो गया है Gmail? बिना पैसे दिए फ्री में बढ़ाएं स्टोरेज, बस अपना लें ये दो तरीके

नई दिल्ली. अगर आप Gmail का इस्तेमाल करते हैं तो संभव है कि आपने भी स्टोरेज फुल होने की दिक्कत का सामना किया…

क्या सच में वाटरप्रूफ है आपका फोन या कंपनी कर रही है खेल? कितनी देर पानी में रहे तो नहीं होगा डेड? जानिए

नई दिल्ली. एक समय में वाटर रेजिस्टेंस का फीचर केवल मोटे और रबर सील्ड फोन्स में देखने को मिलता था. ऐसे फोन्स…