``` कमाल का है कटहल, ऐसे करें प्रयोग तो मिर्गी का दौरा हो जाएगा शांत, डॉक्टर से जानें विधि - टाइम्स ऑफ़ हिंदी
आपका स्वागत है! टाइम्स ऑफ़ हिंदी पर रंग-बिरंगी ख़बरों की दुनिया में!

कमाल का है कटहल, ऐसे करें प्रयोग तो मिर्गी का दौरा हो जाएगा शांत, डॉक्टर से जानें विधि

अर्पित बड़कुल/दमोह: बुंदेलखंड के दमोह में ग्रामीण कस्बों में कटहल की सब्जी को काफी चााव के साथ लोग खाना पसंद करते हैं. इस फल को शाकाहारियों का नॉनवेज माना जाता है, जिसका आयुर्वेद में बड़ा महत्व है. इसका निरंतर सेवन करने से एनीमिया, कैंसर और थायराइड जैसी बीमारियां दूर भागती हैं. बता दें कि पका हुआ कटहल बहुत ही स्वादिष्ट मीठा होता है. वहीं महाराष्ट्र में इसके पके कोये से आम रोटी जैसी रोटी (धूप में सुखाकर) बनाई जाती है. इसके बीज को भूनकर या उबालकर खाया जाता है, जो शरीर में पौष्टिक तत्वों की कमी को पूरा करता है.

जानें कटहल के आयुर्वेदिक गुण
कटहल में विटामिन बी-6 होता है, जो खून में होमोसिस्टीन के लेवल को काम करता है. हृदय के लिए भी स्वस्थ रहता है. बॉडी में आयरन की कमी नहीं होने देता. इसमें कैल्शियम होता है, जो हड्डियों को मजबूत करता है. कटहल में कॉपर होता है, इसके सेवन से थायराइड जैसी बीमारी से बचा जा सकता है. मधुमेह के रोगियों के लिए यह फायदेमंद होता है. इसमें विटामिन बी होता है, जो इंसुलिन में सुधार करता है. इसमें विटामिन ए पाया जाता है, जिससे आंखों की रोशनी को बनाए रखने में मदद मिलती है.

मिर्गी से ऐसे बचाएगा
आयुर्वेद चिकित्सक डॉ. अनुराग अहिरवाल ने बताया कि अगर किसी को मिर्गी का दौरा पड़ता है तो कटहल की छाल का चूर्ण बनाकर नाक में डाल देते हैं तो मिर्गी का दौरा शांत हो जाता है. इसमें आयरन की मात्रा अच्छी होती है जो एनीमिया के लिए भी उपयोगी है. साथ ही थायराइड, कैंसर संबंधी गंभीर बीमारी से भी बचा जा सकता है. इसके अलावा ग्रामीण इलाकों ने इसका अचार चाव से खाया जाता है.

Tags: Damoh News, Health News, Mp news

टाइम्स ऑफ़ हिंदी Perspective:

पका हुआ कटहल ग्रामीण कस्बों में चाव के साथ खाया जाने वाला एक स्वादिष्ट फल है। इसका सेवन करने से एनीमिया, कैंसर और थायराइड जैसी बीमारियों से बचा जा सकता है। इसके बीज के सेवन से शरीर में पौष्टिक तत्वों की कमी को भरा जा सकता है। इसके अलावा मिर्गी के दौरे को रोकने में भी कटहल की छाल बहुत मददगार होती है। इसका साइड इफेक्ट्स किसी भी तरह का नहीं होता।
[Source: टाइम्स ऑफ़ हिंदी]

Share this article
Shareable URL
Prev Post

आगरा में कॉलोनी वासियों ने नगर निगम के खिलाफ खोला मोर्चा, गंदे पानी में दिया धरना

Next Post

कपड़ों को रगड़ कर चमका देंगी ये फुली ऑटोमैटिक Washing Machine, आधे दाम पर खरीदने का है मौका, मच गई लूट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read next

स्मोकिंग और एल्कोहल से किसी को भी हो सकता है सर्वाइकल कैंसर, जानें एक्सपर्ट की राय…

रिपोर्ट- सुमित राजपूतनोएडा. इन दिनों सर्वाइकल कैंसर और पूनम पांडे चर्चा में हैं. सर्वाइकल कैंसर भयावह है. लेकिन…

सेहत को हेल्दी रखने की है चाह? भूलकर भी न करें 5 गलतियां वरना फायदे की जगह होगा नुकसान

हाइलाइट्स खाने से जुड़ी हमारे अंदर कई ऐसी गलत आदतें होती हैं, जो सेहत को नुकसान पहुंचाती हैं. ऐसी आदतें हमारे…

लकवा-हार्ट अटैक के मरीजों को फ्री में मिल रहा ये इंजेक्शन, कीमत 50 हजार

लखेश्वर यादव/जांजगीर चांपा. आज के दौर में खानपान की वजह से लोगों में हार्ट की बड़ी समस्या पैदा हो रही है. नए-नए…