``` दिवाली पर जाना है घर, चाहिए कंफर्म ट्रेन टिकट, फूंक दें ये ‘मंत्र’! फिर देखें कैसे झट से बनता है काम - टाइम्स ऑफ़ हिंदी
आपका स्वागत है! टाइम्स ऑफ़ हिंदी पर रंग-बिरंगी ख़बरों की दुनिया में!

दिवाली पर जाना है घर, चाहिए कंफर्म ट्रेन टिकट, फूंक दें ये ‘मंत्र’! फिर देखें कैसे झट से बनता है काम

हाइलाइट्स

ऑनलाइन ट्रेन टिकट बुक करते वक्‍त VIKALP ऑप्शन हर यात्री को सुझाया जाता है.
इस स्कीम से रेलवे यात्रियों को कंफर्म टिकट देने की कोशिश करता है.
विकल्‍प स्‍कीम से कन्‍फर्म टिकट मिलने की संभावना बहुत ज्‍यादा बढ़ जाती है.

भारतीय रेलवे विकल्‍प योजना : दिवाली और छठ पूजा के मौके पर कंफर्म टिकट पाने की समस्या है. इसलिए दिवाली और छठ के दौरान भी रेलवे ने कई स्‍पेशल ट्रेनें चलाने की घोषणा की है. लेकिन फिर भी हर यात्री को कंफर्म टिकट प्राप्त करना कठिन है. इसलिए भारतीय रेलवे ने रिजर्वेशन के तरीकों में काफी बदलाव किया है. कंफर्म टिकट प्राप्त करने की संभावना बढ़ाने के लिए रेलवे आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस का भी उपयोग कर रहा है. दिवाली और छठ पूजा पर कंफर्म टिकट पाने के लिए एक और तरीका है जिसका नाम है विकल्‍प योजना (भारतीय रेलवे विकल्‍प योजना). अगर आप टिकट बुक करते समय विकल्‍प का उपयोग करेंगे, तो आपको कंफर्म टिकट प्राप्त करने की संभावना बहुत अधिक होगी।

अल्टरनेट ट्रेन एकोमोडेशन स्कीम (एटीएएस) को रेलवे ने विकल्‍प के नाम से पुनर्निर्देशित किया है. इस स्कीम से रेलवे कोशिश करता है कि यात्रियों को ज्यादा से ज्यादा कंफर्म टिकट प्रदान किए जाएं. यह योजना यात्रा के लिए कई ट्रेनों के बीच से चुनाव करने की सुविधा प्रदान करती है. इसका फायदा यह होता है कि जिस भी ट्रेन में सीट या बर्थ खाली होती है, वही यात्री को सीट या बर्थ आपूर्ति होती है. रेलवे यात्रा की तिथि से 120 दिन पहले टिकट बुक कराने की अनुमति देती है. इसी तरह, अचानक किसी जगह जाना पड़े तो यात्री तत्काल आरक्षण सुविधा का उपयोग करके यात्रा से एक दिन पहले टिकट बुक कर सकता है.

VIKALP कैसे चुनें:
ऑनलाइन ट्रेन टिकट बुक करते समय VIKALP ऑप्शन का सिलेक्ट किया जाएगा. इस ऑप्शन में, जिस ट्रेन में वेटिंग टिकट मिला है, उसके अलावा उस रूट की अन्य ट्रेनें चुनी जा सकती हैं. यात्री ऑनलाइन टिकट बुक करते समय इसे चुन सकते हैं. यदि किसी भी विकल्पित चालक ट्रेन में कोई सीट या बर्थ उपलब्ध होती है, तो यात्री को स्वतः ही वही सीट या बर्थ आपूर्ति कर दी जाती है. यह विकल्प आप बुक किए गए टिकट के हिस्ट्री में जाकर चेक कर सकते हैं.

एक साथ 7 ट्रेनें चुन सकते हैं आप:
VIKALP योजना के तहत यात्री 7 ट्रेनों को चुन सकते हैं. यह ट्रेन बोर्डिंग स्टेशन से डेस्टिनेशन तक 30 मिनट से 72 घंटे तक चलती होनी चाहिए. आपको यह जान लेना चाहिए कि VIKALP योजना की चयनित ट्रेनों में सीट की उपलब्धता पर निर्भर करके कंफर्म टिकट मिलेगी या नहीं. लेकिन VIKALP योजना का चयन करने से कंफर्म टिकट प्राप्त करने की संभावना बहुत अधिक होती है।

Tags: बिजनेस समाचार, भारतीय रेलवे, IRCTC, रेलवे ज्ञान, टिकट बुकिंग, ट्रेन टिकट

Share this article
Shareable URL
Prev Post

कपड़ों को रगड़ कर चमका देंगी ये फुली ऑटोमैटिक Washing Machine, आधे दाम पर खरीदने का है मौका, मच गई लूट

Next Post

धर्मेंद्र-सनी देओल संग कब आ रही बॉबी देओल की ‘अपने 2’, क्यों हो रही फिल्म में देरी, सामने आया बड़ा अपडेट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read next

Dilli Bazaar: ‘दिल्ली बाजार’ पोर्टल से दो लाख से अधिक महिला उद्यमियों को जोड़ेगी केजरीवाल सरकार, बनाया ये बड़ा प्‍लाान

नई दिल्ली (भूपेन्‍द्र पांचाल). दिल्ली सरकार (Delhi Government) के थिंक टैंक डायलॉग एंड डेवलपमेंट कमीशन ऑफ दिल्ली…

ट्रेन से सफर में झटके खाना नहीं चाहते तो शताब्‍दी, राजधानी छोड़ इससे करें सफर

नई दिल्‍ली. अगर आपसे पूछा जाए कि ट्रेन से सफर के दौरान झटके खाना नहीं चाहते तो किस ट्रेन से सफर किया करना चाहिए…

नौकरी से आ गए हैं तंग तो शुरू कर दें यह कारोबार, हर महीने होगी 5-10 लाख रुपये की कमाई, जानिए कैसे?

नई दिल्ली. क्या आप भी अपनी बोरिंग नौकरी से तंग आ चुके हैं? और कोई ऐसा बिजनेस (अपना व्यापार शुरू करना) करना चाहते…