``` World Cup: रोहित कैसे बने रो'हिट', क्यों वर्ल्ड कप में बरसा रहे छक्के पर छक्के, क्या है उनके हिट होने का राज? - टाइम्स ऑफ़ हिंदी
आपका स्वागत है! टाइम्स ऑफ़ हिंदी पर रंग-बिरंगी ख़बरों की दुनिया में!

World Cup: रोहित कैसे बने रो’हिट’, क्यों वर्ल्ड कप में बरसा रहे छक्के पर छक्के, क्या है उनके हिट होने का राज?

हाइलाइट्स

रोहित शर्मा ने इस विश्व कप में अब तक 11 छक्के लगाए हैं
वो भारत की तरफ से सबसे अधिक रन बनाने वाले बैटर हैं

नई दिल्ली. माही मार रहा है….महेंद्र सिंह धोनी के लिए ये लाइन अक्सर सुनने को मिल जाती है लेकिन अब ये जुमला रोहित शर्मा के लिए भी इस्तेमाल हो रहा है. वर्ल्ड कप 2023 में रोहित ‘हिटमैन’ वाले अंदाज में ही बैटिंग कर रहे हैं. उनके लिए छक्का लगाना बाएं हाथ का खेल साबित हो रहा. अभी भारत ने इस विश्व कप में 3 ही मैच खेले हैं और रोहित 11 छक्के उड़ा चुके हैं. इसमें से अकेले 6 हवाई फायर तो उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ किए थे. इसमें से 3 तो रोहित ने दुनिया के सबसे तेज गेंदबाजों में शुमार हारिस रऊफ के खिलाफ लगाए थे.

आखिर कैसे रोहित इस विश्व कप में गेंदबाजों के लिए काल बने हुए हैं और कैसे वो इतनी आसानी से लंबे-लंबे छक्के मार रहे? भारतीय कप्तान की इस पावर हिटिंग का क्या राज है? आइए इसके पीछे की कहानी आपको बताते हैं. दरअसल, रोहित ने अपनी बैटिंग में मामूली बदलाव किए हैं लेकिन इसका उनकी बैटिंग पर गहरा असर पड़ा है.

बैटिंग में मामूली बदलाव का रोहित को हो रहा फायदा
दिलचस्प बात ये है कि रोहित ने अपनी बैटिंग में जो छोटे बदलाव किए हैं, उसमें उनकी किसी ने मदद नहीं की. यानी रोहित अपनी कमियों और गलतियों से सीखकर ही अपने खेल में सुधार लाए. रोहित ने अपनी बैटिंग में एक बदलाव तो करियर की शुरुआत में ही किया था, तब उन्होंने दूसरे बल्लेबाजों से उलट क्रीज पर बल्ले को टैप (थपथपाना) नहीं करने का फैसला किया था. रोहित ने ऐसा इसलिए किया क्योंकि बल्ला टैप करने की वजह से उनका अगला पैर क्रॉस आ जाता था और उनका संतुलन गड़बड़ा जाता था, जिससे उन्हें बाहर निकलती गेंदों को खेलने में परेशानी होती थी और इसी वजह से कई बार बाएं हाथ के तेज गेंदबाजों की अंदर आती गेंदों पर उनके एलबीडब्ल्यू होने का खतरा पैदा हो जाता था.

रोहित ने करियर की शुरुआत में ही स्टांस बदला था
रोहित ने विश्व कप से पहले इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत के दौरान इस पर खुलकर बात की थी. उन्होंने बताया था कि उन्होंने कैसे स्टांस में बदलाव किया. बल्ला ऊपर रखने से उन्हें बाहर जाती गेंद छोड़ने की अच्छी स्थिति में रहने का मौका मिलता है. करियर की शुरुआत में रोहित चाप या पांच नंबर पर बैटिंग करते थे. जहां उन्हें गेंद छोड़ने का मौका कम ही मिलता था. नेट्स पर भी वो केवल गेंद को हिट करने की ही प्रैक्टिस करते थे. यहां तक कि रणजी ट्रॉफी में भी खेलते वक्त उन्होंने खुद को मिडिल ऑर्डर बैटर के रूप में ही तैयार किया.

‘तुम्हारे बैट में कुछ है…’ अंपायर को रोहित शर्मा पर था शक, मैच के बाद हिटमैन ने डोले दिखाने का खोला राज

रोहित ने बैटिंग ग्रिप में भी बदलाव किया था
रोहित की बैटिंग में अगला बदलाव 2018 में आया, जो टेस्ट में ओपनिंग के बाद से शुरू हुआ था. तब रोहित इंग्लैंड दौरे पर गए थे. वहां गेंद स्विंग हो रही थी. ऐसे में गेंद को शरीर के करीब खेलने के लिए उन्हें बैटिंग ग्रिप को फिर से बदलना पड़ा था. रोहित ने इससे पहले कभी ऐसा नहीं किया था. इससे कई बार उन्हें कलाई पर भी चोट लगी. लेकिन शुरुआती तकलीफ के बाद उन्हें इस ग्रिप की आदत हो गई और अब वो पहले के मुकाबले बेहतर तरीके से बैट स्विंग को कंट्रोल कर पा रहे. खासतौर पर जब गेंद हरकत करती है तो उसकी लाइन में जल्दी बल्ला ला पा रहे हैं और इसका फायदा उन्हें विश्व कप 2023 में हो रहा है और पाकिस्तान के खिलाफ रोहित की तूफानी फिफ्टी इसका सबूत है.

IND vs PAK: ‘बॉब वूल्मर जैसा हाल होगा…’ LIVE शो में अब्दुल रज्जाक की कोच को धमकी, टीम को भी कोसा

Tags: Rohit sharma, Team india, World cup 2023

Share this article
Shareable URL
Prev Post

रणबीर कपूर की Animal में ‘खा’ रहे हैं बॉबी देओल, खुद को देखकर गये थे सहम, दहला देगी नरभक्षी थ्‍योरी!

Next Post

नवरात्र पर हिंदू समुदाय को शुभकामनाएं, जस्टिन ट्रूडो के तेवर हुए नरम, भारत के साथ गहरे संबंधों पर दिया जोर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read next

क्या भारत-पाकिस्तान के बीच सीरीज होगी? रोजर बिन्नी ने किया इशारा

हाइलाइट्स बीसीसीआई अध्यक्ष रोजर बिन्नी ने अपनी पाकिस्तान यात्रा को लेकर बड़ी बात कही बिन्नी ने कहा कि इस यात्रा…

टी20 टीम सलेक्शन पर बवाल, रोहित शर्मा या विराट कोहली मुश्किल में चयनकर्ता

केपटाउन. अफगानिस्तान के खिलाफ टी20 टीम का इंतजार किया जा रहा है लेकिन इसको लेकर चर्चा खत्म होती नहीं दिख रही.…