``` राजस्थान चुनाव: BJP विश्वराज सिंह और भवानी कालवी से किन सीटों को साधेगी? समझें पूरी रणनीति - टाइम्स ऑफ़ हिंदी
आपका स्वागत है! टाइम्स ऑफ़ हिंदी पर रंग-बिरंगी ख़बरों की दुनिया में!

राजस्थान चुनाव: BJP विश्वराज सिंह और भवानी कालवी से किन सीटों को साधेगी? समझें पूरी रणनीति

हाइलाइट्स

राजस्थान विधानसभा चुनाव 2023
राजस्थान बीजेपी ने खेला बड़ा दांव
विश्वराज सिंह और भवानी कालवी की बीजेपी में एंट्री

जयपुर. राजस्थान बीजेपी ने आज लोकेन्द्र सिंह कालवी के बेटे भवानी कालवी और मेवाड़ के पूर्व राजपरिवार के वंशज विश्वराज सिंह को अपने खेमे में शामिल कर एक साथ तीन से चार निशाने साधने का काम किया है. पार्टी ने इनके जरिए खुद का कुनबा बढ़ाने के साथ ही राजपूत समाज में अपने पैठ बढ़ाने और मेवाड़ तथा मारवाड़ के सियासी समीकरणों को साधा है. वहीं राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी का मुकाबला करने के लिए मेवाड़ में नए विकल्प का रास्ता ढूंढा है.

राजनीति के जानकारों के मुताबिक बीजेपी मेवाड़ के पूर्व राज परिवार के सदस्य विश्वराज सिंह को डॉ. सीपी जोशी के सामने नाथद्धारा से मैदान में उतार सकती है. विश्वराज की बीजेपी में एंट्री हो जाने के बाद अब लक्ष्यराज सिंह मेवाड़ के पार्टी में शामिल होने की कम ही संभावनाएं जताई जा रही है. पहले चर्चा थी कि लक्ष्यराज मेवाड़ को बीजेपी उदयपुर शहर की सीट या फिर नाथद्धारा से टिकट दे सकती है.

नाथद्वारा में बन रहे हैं नए राजनीतिक समीकरण
बीजेपी सूत्रों के मुताबिक राजसमंद से सासंद दियाकुमारी की कोशिश के चलते विश्वराज सिंह मेवाड़ की बीजेपी में एंट्री हुई है. पहले दीयाकुमारी को नाथद्धारा सीट से चुनाव लड़वाने की अटकलें थी. लेकिन दीयाकुमारी को जयपुर के विद्याधर नगर से प्रत्याशी बनाए जाने के बाद अब विश्वराज मेवाड़ को नाथद्धारा से टिकट देने की संभावनाएं उभर रही हैं.

मेवाड़ के राजपरिवार में चलती है कानूनी जंग
मेवाड़ राजघराने में पूर्व महाराणा महेंद्र सिंह मेवाड़ और उनके छोटे भाई अरविंद सिंह मेवाड़ में उतराधिकार और संपत्ति को लेकर कानूनी जंग के बरसों से चलती रही है. विश्वराज सिंह पूर्व महाराणा महेंद्र सि्ंह मेवाड़ के बेटे हैं. वहीं लक्ष्यराज मेवाड़ महेंद्र सिंह के छोटे भाई अरविंद सिंह मेवाड़ के बेटे हैं. महेंद्र सिंह मेवाड़ 1989 में बीजेपी से चितौड़गढ से सासंद रह चुके हैं.

कालवी के जरिए डेगाना या लाडनूं को साधने की कवायद
दूसरी तरफ राजस्थान में राजपूतों के ताकतवर संगठन करणी सेना के संस्थापक रहे लोकेंद्र सिंह कालवी के बेटे भवानी कालवी ने भी आज बीजेपी का दामन थाम लिया. लोकेंद्र सिंह कालवी की पिछले दिनों बीमारी के कारण निधन हो गया था. माना जा रहा है कि भवानी कालवी को बीजेपी नागौर के डेगाना या लाडनूं से टिकट दे सकती है.

पिछले चुनावों में करणी सेना ने दिए थे ये दो नारे
2018 के विधानसभा चुनाव में करणी सेना ने ही वसुंधराराजे के खिलाफ ‘कमल का फूल हमारी भूल’ और ‘मोदी तुझसे बैर नहीं, लेकिन वसुंधरा राजे तैरी खैर नहीं’ जैसे नारे दिए थे. तब बीजेपी में माना गया था कि आनंदपाल एनकाउटंर केस के बाद करणी सेना के अभियान से बीजेपी का मूल वोट बैंक राजपूत वर्ग का उस तरह समर्थन नहीं मिला जैसा मिलना चाहिए. बीजेपी 2018 में महज 0.5 फीसदी के वोट के अंतर से चुनाव हार गई थी.

दीया कुमारी भी नई ताकत के रूप में उभर रही है
इस दफा बीजेपी राजूपतों समेत कई जातियों के संगठनों को भी साधने की कोशिश कर रही है. विश्वराज और भवानी कालवी की बीजेपी में एंट्री में दीया कुमारी की अहम भूमिका मानी जा रही है. ऐसे में माना जा रहा है कि बीजेपी में अब दीयाकुमारी का कद लगातार बढ़ रहा है. राजपूतों में अब तक गजेंद्र सिंह शेखावत और राजेंद्र राठौड़ जैसे नेताओं का दबदबा रहा, लेकिन अब दीया कुमारी भी नई ताकत के रूप में उभर रही है.

Share this article
Shareable URL
Prev Post

किराए पर रहने वाले न करें ऐसी गलती! फ्लोर पर छोटी खरोंच के लिए मकान मालिक ने ठोका ₹52,000 का जुर्माना

Next Post

सिर्फ आपके सिर पर ही नहीं, कार के नए टायर पर भी निकलते हैं बाल, जानिए क्या है फायदा और नुकसान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read next

Karwa Chauth 2023: करवा चौथ पर लगवानी है डिजाइनिंग मेहंदी? सज गया बाजार, जानें कितना होगा खर्च?

अंजलि सिंह राजपूत/लखनऊ. करवा चौथ पर सज श्रृंगार का अपना ही अलग महत्व होता है। महिलाएं पूरी तरह से सज संवर कर,…

राजस्थान: बाड़मेर में युवक ने मां और पत्नी के साथ दी जान, सन्न रह गया पूरा गांव, मच गया कोहराम

बाड़मेर. राजस्थान के बाड़मेर जिले में वापस एक नया सामूहिक आत्महत्या का मामला सामने आया है। बाड़मेर जिले के चौहटन…

अलवर को स्वच्छ बनाने का सपना तभी होगा साकार, जब शहरवासी दें नगर निगम का साथ

पीयूष पाठक/अलवर. शहर को स्वच्छ और सुंदर बनाने में नगर निकाय व निगम का एक योगदान रहता है. ऐसे में सुंदर और स्वच्छ…

अब 112 डायल करते ही पहुंचेगी पुलिस, इन थानों को मिली अत्याधुनिक सुविधाएं, जानें खासियत

मोहित शर्मा/करौली. हिंडौन सिटी के निवासियों के लिए अब किसी भी प्रकार की घटना की सूचना देने के लिए मुश्किलों का…