``` Uttarakhand Best Places: मसूरी-नैनीताल भूल जाइए, उत्तराखंड में इस वैली की सैर कर आइए - टाइम्स ऑफ़ हिंदी
आपका स्वागत है! टाइम्स ऑफ़ हिंदी पर रंग-बिरंगी ख़बरों की दुनिया में!

Uttarakhand Best Places: मसूरी-नैनीताल भूल जाइए, उत्तराखंड में इस वैली की सैर कर आइए

हिमांशु जोशी/पिथौरागढ़: उत्तराखंड में बहुत सारी ऐसी वैओं मार्ग हैं जिनकी सुंदरता को पर्यटक बहुत पसंद करते हैं। इन दिनों, लोगों के बीच दारमा घाटी भी बहुत प्रसिद्ध हो गई है। दारमा घाटी उत्तराखंड की सीमा क्षेत्र में स्थित है।

दारमा घाटी पर्यटकों के लिए श्रेष्ठ घटी के रूप में उभर कर आई है। यहां पहुँच पाना अभी भी आसान नहीं है, लेकिन इसी कारण से यहां पहुँचने का अनुभव लोगों को बहुत पसंद आता है। इस घाटी में पहाड़ों के बीच बहुत सारी नदियाँ, झरने और ग्लेशियर हैं। जब लोग दारमा घाटी में पहुँचते हैं, तो उनकी आंखों के सामने पंचाचूली पर्वत दिखाई देता है और सारी थकान मिट जाती है।

घाटी में कई हिमालयी पर्वत श्रृंगों को बर्फ से आवरित देखा जा सकता है। जो लोग भीड़ से दूर हिमालय की सैर करने की सोच रहे हैं, उनके लिए दारमा घाटी एक बेहतरीन विकल्प हो सकती है। इन दिनों, यह घाटी पर्यटकों के बीच खूब लोकप्रिय हो गई है। यहां अब जीवन वापस रेलगाड़ी पर लौट चुका है क्योंकि यहां सिर्फ 6 महीने लोग रहते हैं। इससे पर्यटक यहां आने पर सम्पूर्ण सुविधाएं मिल रही हैं।

यहां पहुँचे पर्यटक कहते हैं कि दारमा घाटी श्रेष्ठ घटी है और उन्हें इसकी सुंदरता बहुत पसंद आती है। सिद्धार्थ भी यहां बार-बार आने की इच्छा व्यक्त करते हैं।

दारमा घाटी में पर्यटन के अनेक संभाव्यताएं हैं। यहां के स्थानीय लोगों ने अपने घरों में होमस्टे की सुविधा प्रदान की है जो पर्यटकों को बहुत पसंद आती है। स्थानीय निवासी देवेंद्र फिरमाल का कहना है कि वे सभी लोगों का दारमा में स्वागत करते हैं। इसके अलावा, पंचाचूली पर्वत के अतिरिक्त भी अन्य कई अद्भुत चीजें हैं जिन्हें पर्यटकों को प्रदर्शित किया जा रहा है। यदि मूलभूत सुविधाओं को बढ़ाया जाए, तो दारमा में पर्यटन का स्वर्णिम भविष्य होगा।

Tags: Pithoragarh hindi news, उत्तराखंड news

Share this article
Shareable URL
Prev Post

खदान में गिरी गाय, युवाओं ने जान पर खेलकर, 4 घंटे की मशक्कत के बाद जिंदा निकाला

Next Post

जांजगीर की बटाटा पापड़ी नहीं खाई तो क्या खाया, एक बार खाएंगे दीवाने हो जाएंगे, बोलेंगे वाह !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read next

शिमला-मनाली जैसी ठंडी जगह पर नहीं मनाना चाहते हैं वेलेंटाइन डे, केरल की इन जगहों का करें रुख, यादगार बनेगा डेस्टिनेशन

हाइलाइट्स मुन्नार हिल स्टेशन पर वैलेंटाइन डे के दिन पार्टनर के साथ क्वालिटी टाइम स्पेंड कर सकते हैं. पार्टनर के…

कहां जाते हैं आप? क्या खाते हैं? क्या सर्च करते हैं? Google को सब कुछ होता है पता, आसानी से ऐसे रोकें जासूसी

नई दिल्ली. Google में जैसे ही आप लॉग-इन करते हैं वैसे ही ये प्लेटफॉर्म ऑटोमैटिकली आपके सारे डेटा स्टोर करना शुरू…

क्या आपने देखी भारत की दूसरी अयोध्या? यहां महल के राजा हैं भगवान राम, बंदूक से दी जाती है सलामी

Raja Ram Mandir: आजकल हर रामभक्तों के जुबां पर अयोध्या शहर छाया हुआ है, सभी अयोध्या में जाकर भगवान रामलला के…

सीलिंग फैन की पंखुड़ी पर गंदगी जमने से क्या होता है, कभी जानने की कोशिश की आपने?

टाइम्स ऑफ़ हिंदी: हाइलाइट्स पंखे की पंखुड़ी पर गंदगी जमा होने से नहीं मिलेगी अच्छी हवा. गर्म पानी से कर सकते हैं…