``` कनाडा ने अपने 41 राजनयिकों को वापस बुलाया, निज्जर विवाद के बाद भारत ने दिया था देश छोड़ने का आदेश - टाइम्स ऑफ़ हिंदी
आपका स्वागत है! टाइम्स ऑफ़ हिंदी पर रंग-बिरंगी ख़बरों की दुनिया में!

कनाडा ने अपने 41 राजनयिकों को वापस बुलाया, निज्जर विवाद के बाद भारत ने दिया था देश छोड़ने का आदेश

हाइलाइट्स

कनाडा सरकार ने भारत से अपने 41 राजनयिकों को वापस बुलाया.
हरदीप सिंह निज्जर विवाद के बाद भारत सरकार ने इन राजनयिकों को देश छोड़ने का दिया था आदेश.

नई दिल्लीः खालिस्तान मुद्दे को लेकर कनाडा-भारत के बीच एक बार फिर विवाद खड़ा हो गया है. कनाडाई सरकार ने भारत में मौजूद अपने 41 राजनयिकों को वापस बुलाने का फैसला किया है. कनाडाई की विदेश मंत्री मेलानी जोली ने स्थानीय समय के मुताबिक गुरुवार को राजनयिकों को बुलाने की जानकारी. उन्होंने यह भी कहा कि कनाडा जवाबी कार्रवाई नहीं करेगा. यानी की कनाडा में रह रहे भारतीय राजनयिकों को देश छोड़ने का आदेश नहीं दिया जाएगा.

विदेश मंत्री जोली ने कहा, ‘भारत ने राजनयिकों को शुक्रवार तक देश छोड़ने का आदेश दिया था. उन्हें कहा गया था कि अगर वे ऐसा नहीं करते हैं तो उनके राजनयिक पद को रद्द कर दिया जाएगा. भारत का ये कदम अनुचित है और राजनयिक संबंधों को लेकर बनाए गए वियना कन्वेंशन का स्पष्ट रूप से उल्लंघन है. प्रेस कांफ्रेंस में विदेश मंत्री जोली ने कहा, ‘भारत की कार्रवाइयो के चलते हमारे राजनयिकों की सुरक्षा को देखते हुए हमने भारत से उन्हें बुला लिया है.’

विदेश मंत्री जोली ने कहा, ‘भारत ने 20 अक्टूबर तक दिल्ली में 21 कनाडाई राजनयिकों और उनके परिवारों को छोड़कर बाकी के लिए एकतरफा राजनयिक छूट हटाने की अपने योजना का औपचारिक ऐलान कर दिया. हमारे राजनयिकों की सुरक्षा को देखते हुए हमने भारत से उनके सुरक्षित वापसी की व्यवस्था की है. इसका मतलब है कि हमारे राजनयिक और उनके परिवार अब वापस चले आए हैं और वे अपने-अपने घर जा रहे हैं.’

बता दें कि बीते 18 सितंबर को हाउस ऑफ कॉमन्स में कनाडाई प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो के बयान के बाद दोनों देशों के रिश्ते में खटास आ गई. दरअसल, कनाडा के प्रधानमंत्री ने अपने देश की संसद में कहा था कि हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के मामले में भारतीय एजेंसियों की संलिप्ता की जांच कर रही है. इसके बाद कनाडा ने भारतीय राजनयिक को निष्कासित कर दिया था. भारत ने पहले कनाडा सरकार के आरोपों को बेतुका बताते हुए खारिज कर दिया और फिर कनाडाई राजनयिक को देश छोड़ने का आदेश दिया.

तग्स: कनाडा, खालिस्तान

Share this article
Shareable URL
Prev Post

क्या गेंदबाज वाइड डालकर विराट कोहली को शतक से रोकना चाहता था? शुभमन गिल ने बता दी सच्चाई

Next Post

चुनाव आयोग ने महेश जोशी को थमाया नोटिस, जानें पूरा मामला

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read next

40 साल का हुआ ये खूंखार तानाशाह, नहीं मनाया कोई जश्न, गरीबी से जूझ रहा है देश

सियोल. उत्तर कोरिया के तानाशाह नोता जहां अपने पिता और दादा के जन्मदिवस पर जश्न का ओयाजन करवाते हैं, वहीं 40 साल…

जी20 समिट के लिए भारत नहीं आएंगे व्लादिमीर पुतिन, यूक्रेन जंग पर है सारा फोकस

मॉस्को. रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन 9-10 सितंबर को नई दिल्ली में होने वाले जी20 शिखर सम्मेलन में व्यक्तिगत…

US में साल्मोनेला संक्रमण का कहर, ये फल बना बड़ी वजह, भारत में भी है पॉपुलर

संकरमण का कहर: अमेरिका के 15 राज्यों में साल्मोनेला संक्रमण का मामला सामने आया है। पिछले 24 घंटों में 50 लोगों…

वेटर की 1 गलती और अब महिला को मिलेंगे 24 करोड़ रुपये, जानें क्या है पूरा माजरा

हाइलाइट्स महिला कॉफी गिरने के चलते काफी बुरी तरह से जल गई थी। महिला ने आउटलेट के खिलाफ मुकदमा दायर किया था।…