``` ज्यादा मटन खाते हैं तो हो जाएं सावधान, घेर लेगा ये गंभीर रोग, चपेट में रखेगा ताउम्र, बचने का उपाय बस एक - टाइम्स ऑफ़ हिंदी
आपका स्वागत है! टाइम्स ऑफ़ हिंदी पर रंग-बिरंगी ख़बरों की दुनिया में!

ज्यादा मटन खाते हैं तो हो जाएं सावधान, घेर लेगा ये गंभीर रोग, चपेट में रखेगा ताउम्र, बचने का उपाय बस एक

मटन खाना और टाइप 2 मधुमेह: क्या आप भी अक्सर मटन खाते हैं? मटन ही नहीं, यदि आप रेड मीट की कैटिगरी में आने वाले किसी भी प्रकार के मीट का सेवन तय से अधिक करते हैं, तो यह आपके लिए बेहद घातक सिद्ध हो सकता है. आप एक ऐसे रोग की चपेट में आ सकते हैं जो आपको परेशान करता रहेगा। हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के एक अध्ययन में पता चला है कि लाल मांस यानी रेड मीट सप्ताह में दो बार खाने वाले लोगों को डायबिटीज का खतरा बढ़ सकता है। यहां तक कि रेड मीट में गाय का मांस (बीफ), सुअर का मांस (पोर्क), बछड़े का मांस, हिरन का मांस और बकरी का मांस (मटन) शामिल होते हैं। ये रेड मीट खाने वालों के लिए टाइप 2 डायबिटीज का खतरा ज्यादा होता है।

पिछले कई अध्ययनों में लाल मांस के सेवन और टाइप 2 मधुमेह के बीच खतरनाक कनेक्शन दिखाया गया है। हार्वर्ड विश्वविद्यालय के एक्सपर्ट ने इस कनेक्शन को भी पुष्टि की है। इस नए अध्ययन में बड़ी संख्या में लोगों के बीच टाइप 2 मधुमेह के मामलों का विश्लेषण करने पर यह साफगोई से दिखाई दिया है। इसके अलावा, 2018 में जर्नल ऑफ हेपेटोलॉजी में छपे एक अध्ययन में यह दावा किया गया था कि रेड मीट और प्रोसेस्ड मीट ज्यादा खाने वालों में फैटी लीवर और इंसुलिन रेजिस्टेंस होती है।

लाल मांस न खाने पर बताए गए विकल्प

इस अध्ययन में रिपोर्ट किया गया है कि लाल मांस की जगह प्लांट बेस्ड प्रोटीन (जैसे कि नट्स और फलियां) या फिर मामूली मात्रा में डेयरी प्रॉडक्ट्स (जैसे कि दूध-दही) खाने से टाइप 2 मधुमेह का खतरा कम होता है। रोज़ एक खुराक रेड मीट लेने की बजाय प्रोटीन के विकल्प खाएं। नट्स और फलियां खाने से टाइप 2 मधुमेह का खतरा 30% तक कम हो सकता है, जबकि डेयरी प्रॉडक्ट्स खाने से यह खतरा 22% तक कम होता है।

‘कैपिटल ऑफ डायबिटीज’ न बन जाए भारत!

न्यूज़ एजेंसी आईएएनएस के एक रिपोर्ट के अनुसार, दुनिया भर में लगभग हर दो में से एक व्यक्ति को मधुमेह होता है और लगभग 240 मिलियन वयस्क इसके बारे में नहीं जानते। मधुमेह के 90% मामले टाइप 2 मधुमेह के होते हैं। भारत में लगभग 30% लोगों को हाई ब्लड प्रेशर होता है और 8 करोड़ लोगों को डायबिटीज है। यदि यह रेट बढ़ता रहा तो भारत जल्द ही ‘कैपिटल ऑफ डायबिटीज’ बन जाएगा।

यह भी पढ़ें-

ICMR की अनुमति प्राप्त पुरुष गर्भनिरोधक इंजेक्शन, कारगरता बनी लंबे समय के लिए

टिप्स: डायबिटीज, हार्वर्ड अध्ययन, स्वास्थ्य टिप्स, जीवन, शर्करा, ट्रेंडिंग न्यूज़, ट्रेंडिंग न्यूज़ हिंदी में

Share this article
Shareable URL
Prev Post

वन्य कर्मियों की लापरवाही और ग्रामीणों की सेल्फी की चाह करा देती बड़ा कांड, देखें Video

Next Post

मोटोरालो, सैमसंग को मजा चखाने के लिए आज OnePlus ला रहा है नया फोन, खरीदने के लिए दौड़ पड़ेंगे लोग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read next

स्वादिष्ट ही नहीं गुणों का खजाना है ये साग, अनिद्रा और डिप्रेशन को कर देगा छूमंतर, डॉक्टर से जानें इसके फायदे

सिमरनजीत सिंह/शाहजहांपुर: सर्दियों के मौसम का असली मजा खान-पान में है. ठंड के मौसम में कई टेस्टी सब्जियां बनाई…

दूध के साथ इस चीज का करें सेवन, शरीर को मिलेगी दोगुनी ताकत, बीमारियां रहेंगी दूर

अरशद खान/देहरादून.हमारे देश में सदियों से कुदरती चीजों से कुदरती तौर पर इलाज किया जाता रहा है. हमारे घर की किचन…

दिखने में साधारण सा पौधा… पर झट से बढ़ा देगा इम्यूनिटी, बुढ़ापे में भी दिखेंगे जवान!

सौरभ वर्मा/रायबरेली: भारत में बहुत पहले से ही गंभीर बीमारियों के इलाज के लिए अलग-अलग प्रकार की जड़ी बूटियों का…

सभी मशरूमों में बाप है यह वेजिटेरियन मटन, यूं ही नहीं है मैजिक सब्जी, नशे की लत पर भी प्रहार, जानें कहां मिलता है यह

Mushroom Assist to Deal with Drug Dependancy: यह मशरूम नहीं बल्कि सभी मशरूमों में सबका बाप है. इस मशरूम का नाम…