``` रिटर्न दिलाने में सबका 'बाप' निकला मैन्‍युफैक्‍चरिंग फंड, सालभर में दिया 35 फीसदी मुनाफा, कैसे किया ये चमत्‍कार! - टाइम्स ऑफ़ हिंदी
आपका स्वागत है! टाइम्स ऑफ़ हिंदी पर रंग-बिरंगी ख़बरों की दुनिया में!

रिटर्न दिलाने में सबका ‘बाप’ निकला मैन्‍युफैक्‍चरिंग फंड, सालभर में दिया 35 फीसदी मुनाफा, कैसे किया ये चमत्‍कार!

हाइलाइट्स

मैन्‍युफैक्‍चरिंग का देश के जीवीए (ग्रॉस वैल्यू एडेड) में 28% का योगदान होता है.
मैन्युफैक्चरिंग में ऐसे कई सेक्टर हैं जो आने वाले सालों में तेजी से विकास करने को तैयार हैं.
निवेशक के रूप में थीम को अपनाना म्यूचुअल फंड रूट के लिए सबसे अच्छा है.

नई दिल्‍ली. भारत को सर्विस इंडस्ट्री का हब माना जाना है. मोदी सरकार के आने के बाद से मैन्युफैक्‍चरिंग इंडस्ट्री भी तेजी से विकास कर रही है. इस क्षेत्र का देश के जीवीए (ग्रॉस वैल्यू एडेड) में 28% का योगदान होता है. जाहिर है कि इस क्षेत्र से जुड़ी कंपनियां भी तेजी से ग्रो कर रही हैं. मैन्युफैक्‍चरिंग में ऐसे कई सेक्टर हैं जो आने वाले सालों में तेजी से विकास करने को तैयार हैं. ऑटोमोबाइल, डिफेन्स, खनन, कैपिटल गुड्स, रेलवे, कपड़ा, केमिकल, पेट्रोलियम व गैस शामिल हैं.

भारत के तेजी से हो रहे शहरीकरण और लोगों की बढ़ती इनकम का मतलब यह है कि आने वाले दिनों में हाउसिंग और इंफ्रास्ट्रक्चर की मांग होगी. वैश्विक स्तर पर देखें तो कई देश एनर्जी सेक्टर में निवेश कम कर रहे हैं, जिससे भारत को फायदा होना तय है. आयात प्रतिस्थापन (import substitution) और मैन्युफैक्‍चरिंग को मजबूत बढ़ावा देने के लिए सरकार के कदम जैसे मेक इन इंडिया, परफॉर्मेंस लिंक्ड इंसेंटिव (पीएलआई), मल्टीमॉडल लॉजिस्टिक्स के लिए गति शक्ति, देश भर में एक्सप्रेसवे और राजमार्गों को पूरा करना, रक्षा निर्यात आदि पूरे थीम को सबसे आगे ले जाने के लिए तैयार हैं. यह कहा जा सकता है कि कंपनियां मजबूत ग्रोथ के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं.

ये भी पढ़ें – सिर्फ ‘शत्रु’ जुड़ने से विवादित नहीं होती संपत्ति, जानिए क्या होती है शत्रु संपत्ति, सरकार क्यों करती है इन पर कब्जा?

इसका फायदा म्‍यूचुअल फंड को भी
एक निवेशक के रूप में थीम को अपनाना म्यूचुअल फंड रूट के लिए सबसे अच्छा है. इसका फायदा निवेशक को भी मिलता है. आईसीआईआई प्रूडेंशियल मैन्युफैक्‍चरिंग फंड ने भी इस ग्रोथ का फायदा उठाया और अपने निवेशकों को जमकर रिटर्न दिलाया है. अक्टूबर 2018 में ट्रेडिंग शुरू होने के बाद से ही आईसीआईआई प्रूडेंशियल मैन्युफैक्‍चरिंग फंड ने 5 साल में जमकर मुनाफा दिलाया है.

एक साल में भर दी झोली
आईसीआईआई प्रूडेंशियल मैन्युफैक्‍चरिंग फंड ने एक, तीन और पांच साल में क्रमशः 35.3%, 34.7% और 19.7% का रिटर्न दिया है. यह एसएंडपी बीएसई इंडिया मैन्युफैक्‍चरिंग टीआरआई से 2.6 से 9.6 प्रतिशत ज्यादा है. ये रिटर्न सभी कैटेगरी के इक्विटी फंडों में सबसे अच्छे हैं. पिछले पांच वर्षों में एसआईपी रिटर्न (एक्सआईआरआर) में आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल मैन्युफैक्‍चरिंग फंड ने 25.3% का मजबूत रिटर्न दिया है.

साल दर साल मिलता है रिटर्न
रिटर्न में निरंतरता भी फंड के पक्ष में जाता है. अक्टूबर 2018 से अक्टूबर 2023 तक लगातार तीन साल के आधार पर आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल मैन्युफैक्‍चरिंग ने 24.6% का औसत रिटर्न दिया है. इसके अलावा तीन साल के रोलिंग आधार पर इस दौरान फंड ने लगभग 93 बार 18% से अधिक रिटर्न दिया है, जो दर्शाता है कि यह स्कीम कितनी स्थिर है. आंकड़ों के मुताबिक, जब बाजार में तेजी होती है तो यह फंड बेंचमार्क से ज्यादा रिटर्न देता है. जब बाजार गिरता है तो उस समय यह बेंचमार्क से काफी कम नीचे जाता है. आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल मैन्युफैक्‍चरिंग फंड निवेश के मिले जुले तरीके का अनुसरण करता है जिसमें वैल्यू और ग्रोथ दोनों स्टाइल का समावेश होता है.

ये भी पढ़ें – बचपन में आम बेचे, फिल्मों में भी दिखाया जलवा, अब चलाते करोड़ों की कंपनी, रिश्ते में लगते अमिताभ बच्चन के दामाद

Share this article
Shareable URL
Prev Post

Google का बड़ा ऐलान! भारत में बनेंगे Pixel फोन्स, पिक्सल 8 से होगी शुरुआत

Next Post

Ganapath Review: मसाला एंटरटेनर के नाम पर सिर्फ एक्‍शन की चटनी? पढ़ें कैसी है टाइगर श्रॉफ कृति सेनन की फ‍िल्‍म

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read next

शुरू हो रहा त्‍योहार और शादियों का सीजन, नोटों की बारिश करा देगा यह बिजनेस!

इससे आपको क्या लाभ होगा शादी हो या पार्टी या त्‍योहार, सजावट की आवश्यकता हमेशा रहती हैं। नवरात्रि में पंडालों के…

पोस्ट ऑफिस की धांसू स्‍कीम, NSC में निवेश कैसे करें, जानिए स्टेप बाय स्टेप प्रोसेस

नई दिल्ली. भारत सरकार द्वारा जारी नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (NSC) एक पारंपरिक लेकिन व्यापक रूप से अपनाया जाने वाला…

नहीं होगा गेहूं, चीनी, चावल और प्याज का एक्सपोर्ट, सरकार ने किया साफ

हाइलाइट्स गोयल ने कहा- निर्यात हटते ही इनकी खुदरा कीमतों में होगी बढ़त. मित्र देशों की जरूरतों को देखते हुए चावल…

Friendship Day: नौकरी छोड़ तीन दोस्तों ने 11 लाख में शुरू किया ये कारोबार, सालभर में बन गए 100 करोड़ के मालिक

नई दिल्ली. Friendship day 2021.. वैसे तो दोस्तों के नाम हर दिन होता है. दुनिया का सबसे नायाब और खूबसूरत रिश्ता…