``` बड़े कमाल की है यह थेरेपी, डायबिटीज, हार्ट समेत कई बीमारियां होती हैं ठीक, यहां उठाएं निशुल्क लाभ - टाइम्स ऑफ़ हिंदी
आपका स्वागत है! टाइम्स ऑफ़ हिंदी पर रंग-बिरंगी ख़बरों की दुनिया में!

बड़े कमाल की है यह थेरेपी, डायबिटीज, हार्ट समेत कई बीमारियां होती हैं ठीक, यहां उठाएं निशुल्क लाभ

अरशद खान/ देहरादून: राजधानी देहरादून में स्थित वीगेन हेल्थ केयर सेंटर रीड की हड्डी की मसाज कर लोगों के तमाम रोग दूर कर रहा है. यह थेरेपी एक कोरियाई टेक्नोलॉजी की मशीन के द्वारा की जाती है जो की रीड कि हड्डी से संबंधित सभी बीमारियों को ठीक करती है. वीगेन इंडिया हेल्थ केयर सेंटर उत्तराखंड के कई जिलों में रनिंग पोजीशन में है देहरादून में भी अलग-अलग हिस्सों में इनके कई सेंटर है. पिछले 7 सालों से 40000 से ज्यादा लोग इस थेरेपी का निशुल्क लाभ ले चुके हैं.

लोकल 18 से बातचीत करते हुए वीगेन इंडिया हेल्थ केयर सेंटर के जोनल मैनेजर वीर सिंह राजपूत बताते हैं कि कोरियाई टैक्नोलॉजी की इस थैरेपी मशीन के कोई साइड इफेक्ट नहीं है. 8 साल के बच्चे से लेकर 100 साल तक के बुजुर्ग इस थैरेपी को लाभ ले सकते हैं. वह कहते हैं कि आज के दौर में हमारे शरीर में पाई जाने वाली ज्यादातर बीमारियां रीड की हड्डी से संबंधित होती है. सर्वाइकल, शोल्डर पेन, डायबिटीज, बैक पेन, के साथ कई बीमारियां इस थैरेपी से ठीक की जा सकती हैं.

यह मरीज नहीं ले सकते थैरेपी

कोरियाई थैरेपी मशीन से वैसे तो सभी प्रकार के मरीज थैरेपी ले सकते हैं लेकिन जिनका रीढ़ की हड्डी का ऑपरेशन हुआ हो, या स्क्रू, पेंच पड़े हो वह इस थैरेपी को नहीं ले सकते हैं. इसके अलावा वायरल बीमारियां जैसे डेंगू, मलेरिया, टाईफाइड, टीवी, कोरोना से ग्रसित लोग थैरेपी नहीं ले सकते. गर्भवती महिलाएं भी इस थैरेपी को नहीं ले सकती हैं.

किन बीमारियों को ठीक करती है यह थैरेपी

यह खास तरह की थैरेपी से रीढ़ की हड्डी का एलाइनमेंट ठीक करती है, शरीर का ब्लड सर्कुलेशन ठीक करती है, बंद नसों व नाड़ियों को खोलती है. शरीर में पाए जाने वाला यूरिक एसिड, फेट, टॉक्सिन, प्राकृतिक रुप से बाहर निकल जाता है. जिससे शुगर, ब्लडप्रेशर, अस्थमा, हार्ट की समस्या, लंग्स की समस्या, सर्वाइकल, स्पॉन्डिलाइटिस, लंबर स्पॉन्डिलाइटिस जैसी बीमारियां ठीक होती हैं.

सीएम धामी ने भी किया सम्मानित

इस थेरेपी के फायदे को देखते हुए उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भी इनको सम्मानित किया और उत्तराखंड सचिवालय में कैंप के माध्यम से निशुल्क थैरेपी सचिवालय कर्मचारी और अधिकारियों को कराई गई. जिसमें 2000 से अधिक सचिवालय कर्मचारीयों ने थैरेपी का निशुल्क लाभ लिया. बाद में भी इनके केयर सेंटर का लाभ लेते रहे.

Tags: Health benefit, Hindi news, Local18

Share this article
Shareable URL
Prev Post

बागपत के किसानों को अब आधे दामों पर मिलेंगे गेहूं के बीज, जानें कैसे होगा लाभ

Next Post

ईयरफोन या हेडफोन, आपके लिए क्या रहेगा बेहतर? दोनों में क्या अंतर और किसे खरीदने में ज़्यादा फायदा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read next

दुनिया की बेहद अजीबोगरीब सब्जी, कच्चा खाएंगे तो हो जाएंगे बीमार, पकाकर खाने पर दूर हो जाएंगी कई बीमारियां

हाइलाइट्स लाल राजमा को कई जरूरी पोषक तत्वों का भंडार माना जाता है. राजमा खाने से कैंसर और डायबिटीज का खतरा कम हो…

सस्‍ता-महंगा नहीं ये वाला आलू रॉकेट की स्‍पीड से बढ़ाता है शुगर, आप भी खाते हैं रोज? मानें डॉ. की नसीहत

Potato Facet Results: आलू सभी खाते हैं. भारत में घरों में करीब 40 फीसदी सब्जियां बिना आलू के नहीं बनती. घर के…

काली हल्दी नहीं भारत का केसर, दुर्लभ किस्म की महंगी औषधि, मिल जाए तो करेगी 5 जानलेवा बीमारियों का खात्मा

हाइलाइट्स काली हल्दी और एलोवेरा का इस्तेमाल ओरल कैंसर की बीमारी को दूर करता है. काली हल्दी का लेप साप काटने पर…

जिम में संभलकर वजन उठाइए जनाब, वर्ना हो सकते हैं साइटिका के शिकार, जानें लक्षण और इलाज  

शाश्वत सिंह/झांसी. मौजूदा समय में हर कोई अपने सेहत को लेकर सरतक हो गया है. कई लोग खुद को फिट रखने के लिए जिम भी…