``` रावण दहन के बाद राख से करें ये 3 उपाय! रातों रात होंगे मालामाल, अयोध्या के ज्योतिष से जानें कैसे? - टाइम्स ऑफ़ हिंदी
आपका स्वागत है! टाइम्स ऑफ़ हिंदी पर रंग-बिरंगी ख़बरों की दुनिया में!

रावण दहन के बाद राख से करें ये 3 उपाय! रातों रात होंगे मालामाल, अयोध्या के ज्योतिष से जानें कैसे?

टाइम्स ऑफ़ हिंदी/अयोध्या : पूरे देश में दशहरे के पर्व को लेकर उत्साह है. हिंदू पंचांग के अनुसार हर वर्ष आश्विन माह के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को दशहरा का पर्व मनाया जाता है. धार्मिक मान्यता है कि इस दिन मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु राम ने रावण का वध किया था. तो दूसरी तरफ मां दुर्गा और महिषासुर दैत्य के बीच लगातार 9 दिनों तक युद्ध हुआ और युद्ध के 10वें दिन मां दुर्गा ने असुर महिषासुर का वध करके उसकी पूरी सेना को परास्त किया था.

धार्मिक ग्रंथो के अनुसार दशहरा के दिन ही मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु राम ने 10 सिर वाले रावण का वध कर असत्य पर सत्य की विजय प्राप्त की थी. यही वजह है कि दशहरे के दिन 10 सर वाले रावण का पुतला बनाकर उसका दहन किया जाता है. बुराई पर अच्छाई का प्रतीक दशहरा का पर्व जीवन में खुशियां लाता है. घर में समृद्धि के रास्ते खोलता है तो आर्थिक स्थिति भी मजबूत होती है. ज्योतिष शास्त्र के द्वारा कुछ उपाय किया जाए तो आप रातों-रात मालामाल हो सकते हैं.अयोध्या के ज्योतिष पंडित कल्कि राम बताते हैं कि ज्योतिष शास्त्र के अनुसार विजयदशमी के दिन रावण का दहन किया जाता है. रावण के दहन के बाद अगर व्यक्ति उसकी राख से कुछ उपाय कर ले तो यह बेहद चमत्कारी माना जाता है.

⦁ रावण दहन के दूसरे दिन ब्रह्म मुहूर्त में स्नान ध्यान करने के बाद रावण दहन की राख को घर पर लाना चाहिए और लाकर उसे एक कागज में रखकर अपने तिजोरी में रख देना चाहिए. अगर आप ऐसा करते हैं तो जीवन में आ रही धन संबंधित तमाम परेशानियां दूर होती है.

⦁ इसके साथ ही रावण दहन की राख को घर में रखने से सभी प्रकार की नकारात्मक ऊर्जा खत्म होती है. सकारात्मक ऊर्जा का वास होता है. जीवन में खुशहाली लौटती है. धन में वृद्धि होती है, घर से बुरी शक्तियां वापस जाती है.

⦁ अगर आपके व्यापार में लगातार घाटा हो रहा है तो फिर आपको दशहरे के दिन एक नारियल लें. उस पर सवा मीटर पीला कपड़ा लपेटकर एक जोड़ा जनेऊ, सवा पाव मिष्ठान किसी राम मंदिर में अर्पित करें. अगर आप ऐसा करते हैं तो इसे जल्द ही उसका असर दिखाई देगा.

(नोट: यहां दी गई जानकारी ज्योतिष के मुताबिक है टाइम्स ऑफ़ हिंदी इसकी पुष्टि नहीं करता है)

Share this article
Shareable URL
Prev Post

डिनर में बनाएं स्वादिष्ट पनीर बटर मसाला, एक बार खाएंगे तो बार-बार मांगेंगे, जानें आसान रेसिपी

Next Post

क्या है पोलियो की बीमारी, किस उम्र के बच्चों को इसका ज्यादा खतरा, डॉक्टर से जानें 5 बड़ी बातें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read next

UP: लखनऊ में डिलीवरी ब्वॉय-गर्ल के लिए पुलिस वेरिफिकेशन जरूरी, जानें डिटेल

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से बड़ी खबर है. यहां पुलिस प्रशासन ने डिलीवरी ब्वॉय-गर्ल, किराएदार का पुलिस…

पीलीभीत के इस युवक ने पराली को बनाया रोजगार का साधन, जानें कितनी हैं कमाई?

सृजित अवस्थी/ पीलीभीत. पराली प्रबंधन प्रशासन के लिए किसी बड़ी चुनौती से कम नहीं है. तमाम कवायदों के बाद भी पराली…

चित्रकूट में करें एकसाथ चार शिवलिंग के दर्शन, जानें इस ऐतिहासिक मंदिर का महत्व

धीरेंद्र शुक्ला/चित्रकूट. भागवत राम की तपोस्थली चित्रकूट में भगवान महादेव की महिमा अपरम्पार है। तीर्थों के तीर्थ…

महिला आरक्षण बिल का बसपा सुप्रीमो मायावती ने किया स्वागत, इस पर ऐतराज

लखनऊ. देश के दोनों सदनों लोकसभा और राज्यसभा से महिला आरक्षण बिल पारित हो जाने पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट…