``` सूरमा लगाने से बढ़ती है आंखों की रोशनी, जानें 'आंखों वाले बाबा' के बारे में - टाइम्स ऑफ़ हिंदी
आपका स्वागत है! टाइम्स ऑफ़ हिंदी पर रंग-बिरंगी ख़बरों की दुनिया में!

सूरमा लगाने से बढ़ती है आंखों की रोशनी, जानें ‘आंखों वाले बाबा’ के बारे में

नागौर. नागौर में हर धर्म से जुड़े हुए पवित्र स्थान बने हुए हैं. यहां पर कई ऐसे चमत्कारिक स्थान हैं, जहां पर दूर-दूर से लोग अपनी मुराद की फरियाद लेकर आते हैं. ऐसा ही, एक स्थान नागौर में काफी प्रसिद्ध है. इस जगह पर व्यक्ति आंखों की रोशनी को तेज करने और आंखों से संबंधित रोग मिटाने आते हैं।

क्या आपको यकीन होगा कि पत्थर को घिसकर पत्थर का सूरमा बनाकर आंखों पर लगाने से आंखों की रोशनी वापस आ जाती है। हां, जब भी सूरमा का जिक्र होता है, तो काले रंग का होता है जो ज्यादातर महिलाएं लगाती हैं। लेकिन, नागौर में एक ऐसा चमत्कारिक स्थान बना हुआ है, जहां के पत्थर को घिसकर आंखों पर लगाने से आंखों से संबंधित बीमारियाँ ठीक हो जाती हैं। हां, इन्हें ‘आंखों वाले बाबा’ के नाम से जाना जाता है।

नागौर के रहने वाले शाहबुद्दीन बताते हैं कि सूतर सवार बाबा, जिन्हें ‘आंखों वाले बाबा’ के नाम से भी जाना जाता है, मुस्लिम संप्रदाय के संत हजरत सूफ़ी हमीदुद्दीन नागौर जी के वंशज हैं। इनकी मज़ार पर आकर दर्शन करने और यहां पर रखी हुई ओखली/शिला रगड़कर सूरमा बनाकर आंखों पर लगाने से आंखों की रोशनी वापस आ जाती है। यहां पर चमत्कार की बातें करें तो शाहबुद्दीन बताते हैं कि नागौर के निकट अमरपुरा गांव के जाटों को दिया गया। वहीं सबसे बड़ा चमत्कार यही है कि बाबा से प्रार्थना करके आंखों पर सूरमा लगाने से रोशनी वापस आ जाती है।

किसी धर्म पर कोई रोक नहीं —
शाहबुद्दीन बताते हैं कि यहां पर किसी भी मज़हब/संप्रदाय के लोग, आकर आंखों से संबंधित बीमारी से निजात पा सकते हैं। वहीं, शाहबुद्दीन का कहना है कि यहां पर ज्यादातर जायरीन/भक्त जुम्मे रात और चांद के दिखने के बाद 6 तारीख को आते हैं। वहीं आंखों से संबंधित बीमारी ठीक होने पर भक्तों द्वारा चांदी की आंख चढ़ाई जाती है।

Tags: टाइम्स ऑफ़ हिंदी, Nagaur News, Rajasthan news

Share this article
Shareable URL
Prev Post

खालिस्तान मुद्दे का समर्थन करने पर मिल रहा वीजा, कनाडाई राजनयिक कर रहे गड़बड़ी

Next Post

26 किलोमीटर की माइलेज, Smart Hybrid वाला इंजन, 7 लोगों के लिए है परफेक्ट कार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read next

शर्मसार हुआ राजस्‍थान, ननिहाल में तार-तार हुए रिश्‍ते, ऐसा गुनाह कि रूह कांप जाएगी

बूंदी. जिले के बसोली थाना क्षेत्र के एक गांव में कलयुगी मामा द्वारा सामाजिक रिश्तों को तार- तार करने का मामला…

वेडिंग सीजन में महिलाओं को लुभा रहे चांदी से बने हैंडबैग्स, नई-नवेली दुल्हन की बना पहली पसंद

निशा राठौड़/उदयपुर. बदलते दौर के साथ-साथ कई चीजे न्यू ट्रेंड में आती जा रही है. शादियों का सीजन चल रहा है ऐसे में…