``` श्यामलाल ने कमजोरी को बनाया ताकत, हाथों के हुनर से बिखेरा स्वाद का जलवा - टाइम्स ऑफ़ हिंदी
आपका स्वागत है! टाइम्स ऑफ़ हिंदी पर रंग-बिरंगी ख़बरों की दुनिया में!

श्यामलाल ने कमजोरी को बनाया ताकत, हाथों के हुनर से बिखेरा स्वाद का जलवा

रवि पायक/भीलवाड़ा. अक्सर देखा जाता है कि किसी बड़े हादसे के बाद अपने हाथ-पैर खो देने वाले लोग कहीं न कहीं जिंदगी से हार मान लेते हैं और अपने आप को कमजोर व्यक्ति समझते है. लेकिन भीलवाड़ा जिले का रहने वाला एक शख्स इस तरह के लोगों के लिए एक मिसाल बनकर उभर रहा है. कहने को तो इस व्यक्ति का एक हाथ और एक पैर काम नहीं करता लेकिन काम ऐसा करता है कि आप भी कहेंगे वाह.

दरअसल हम बात कर रहे हैं भीलवाड़ा के श्यामलाल की, जिनका एक हादसे के बाद एक पैर और एक हाथ में लकवा आ गया. लेकिन इन्होंने हार नहीं मानी और अपने काम को दोबारा शुरू किया और आज के समय में स्वीट कॉर्न और राब के मामले में यह है भीलवाड़ा के सबसे लोकप्रिय व्यक्ति है. इनकी राबड़ी इतनी फेमस हो चुकी है कि लोग उसका स्वाद लेने के लिए दूर-दूर से आते है.

पांच तरह के सीक्रेट मसाले से होता है तैयार

श्यामलाल शर्मा ने बताया कि दिव्यांग होने के बावजूद भी मैंने कभी हार नहीं मानी और मैं अपने परिवार के साथ स्वीट कॉर्न बनाने का कार्य शुरू किया. हमारे स्वीट कॉर्न लोगों को काफी पसंद आते हैं. इसका कारण है कि हमारे यहां पर पांच तरह के सीक्रेट मसाले से इसे तैयार किया जाता है. जिसमें चीज का भी उपयोग किया जाता है. श्यामलाल ने बताया कि एक बार बीपी बढ़ने से उन्हें लकवा आया जिसके कारण इस परेशानी का सामना करना पड़ा और उनका 1 हाथ 1 और पैर लकवे में आ गया और करीब 6 महीने तक मे इसी हालत में घर पर ही रहा. श्यामलाल का कहना है कि किसी भी कार्य को सफल बनाने के लिए मेहनत से लगना पड़ता है.

यह भी पढ़ें : कांस्टेबल…पटवारी…सामाजिक सुरक्षा अधिकारी का सफर तय करते हुए गंगा अब RAS में लाई 22वीं रैंक

श्यामलाल ने सूचना केंद्र सर्किल के ठेला लगाकर मक्के की राब बनाने का कार्य शुरू किया. इसके साथ ही यहां स्वीट कॉर्न से जुड़ी खाने की कई वैरायटी बनाई जाती है. इसके अलावा सर्दियों में मक्के की राब. यहां आने वाले लोग सिर्फ इनकी राबड़ी की प्रशंसा नहीं करते बल्कि इन्हें देखकर मोटिवेट भी होते हैं. इसके बाद श्यामलाल ने सूचना केंद्र सर्किल के ठेला लगाकर मक्के की राब बनाने का कार्य शुरू किया.

यहां मिलेगी 10 वैरायटी की कॉर्न चाट

श्यामलाल ने बताया कि वे राबड़ी के अलवा 10 से अधिक स्वीट कॉर्न चार्ट भी बनाते हैं. उनके यहां 15 रुपये से लेकर 150 रुपए तक के फूड आइटम मिलते हैं. ठेले पर राब पीने आए कुणाल ने बताया कि मैं सप्ताह में दो से तीन बार यहां राब पीने आता हूं. इनकी राबड़ी व ​स्वीट कॉर्न का स्वाद लाजवाब है. यहां मैं करीब 4-5 सालों से आ रहा हूं और काम को लेकर इनका जज्बा लाजवाब है जिसे देखकर हमें भी प्रेरणा मिलती है.

Tags: Bhilwara news, Local18, Rajasthan news

Share this article
Shareable URL
Prev Post

दक्षिण अफ्रीका की खदान में हादसा, लिफ्ट गिरने से 11 मजदूरों की मौत, 75 घायल

Next Post

iPhone का ये फीचर देख दंग रह जाते हैं एंड्रॉयड फोन वाले, करता है फोटो पर ऐसा ‘जादू’ कि हो जाता है कमाल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read next

राजस्थान: कांग्रेस विधायक दल की बैठक में हार पर उठे सवाल, जानें सबकुछ

हाइलाइट्स हार के बाद कांग्रेस में मंथन का दौर पीसीसी कार्यालय पर हुई विधायक दल की बैठक रामगढ़ विधायक जुबैर खान…

यह संस्था 10 सालों से हादसे रोकने के लिए अपना रही है तकनीक, ऐसे कर रही बचाव

निखिल स्वामी/बीकानेर. सर्दी और कई जगह अंधेरा होने के कारण बेसहारा पशुओं की वजह से आए सड़क हादसे होते रहते है. इन…