``` RBI गवर्नर के फैसले से मकान खरीदारों की बल्‍ले-बल्‍ले, मिलेगा सस्‍ता मकान - टाइम्स ऑफ़ हिंदी
आपका स्वागत है! टाइम्स ऑफ़ हिंदी पर रंग-बिरंगी ख़बरों की दुनिया में!

RBI गवर्नर के फैसले से मकान खरीदारों की बल्‍ले-बल्‍ले, मिलेगा सस्‍ता मकान

हाइलाइट्स

आरबीआई ने इस तिमाही भी रेपो रेट को 6.50 फीसदी पर स्थिर रखने का ऐलान किया है.
प्रीमियम और लग्‍जरी परियोजनाओं की मांग अभूतपूर्व स्तर पर पहुंच गई है.
एनसीआर में रियल एस्टेट की सेक्‍टर में निवेश को बढ़ावा मिलने की उम्मीद है.

नई दिल्‍ली. मकान खरीदने वाले ज्‍यादातर लोगों का सपना लोन के जरिये ही पूरा होता है. बैंकों की ब्‍याज दरें बढ़ने से लोन की ईएमआई भी बढ़ जाती है. इसका सीधा असर मकान खरीदारों पर दिखता है. अगर कर्ज सस्‍ता रहेगा तो लोन की किस्‍त भी कम आएगी और मकान खरीदरों पर ईएमआई का बोझ भी कम रहेगा. रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास (RBI Governor Shaktikant Das) ने शुक्रवार को ब्‍याज दरों पर बड़ा फैसला किया. इस फैसले से न सिर्फ मकान खरीदरों को राहत मिली, बल्कि रियल एस्‍टेट सेक्‍टर भी झूम उठा.

आरबीआई ने इस तिमाही भी रेपो रेट को 6.50 फीसदी पर स्थिर रखने का ऐलान किया है. आरबीआई के इस कदम से होम बायर्स से लेकर रियल एस्टेट सेक्टर को राहत मिली है. होम बायर्स को होम लोन पर ईएमआई नहीं बढ़ने से इस साल राहत महसूस होगी. इस पर रियल एस्टेट सेक्टर ने आरबीआई के इस कदम को बेहतर बताया और मकान खरीदारों को सस्‍ते घर देने का आश्‍वासन दिया. सेक्‍टर के बड़े खिलाडि़यों का कहना है कि कर्ज महंगा नहीं होने से निर्माण की लागत भी स्थिर रहेगी, जिसका फायदा आखिरकार खरीदारों को ही मिलेगा.

ये भी पढ़ें – महंगाई पर सरकार का वार! आम आदमी के हित में 3 बड़े फैसले, बाजार में बढ़ती कीमतों पर लग जाएगी लगाम

2 साल से रियल एस्‍टेट की तेजी बरकरार
क्रेडाई एनसीआर के अध्‍यक्ष और गौड़ ग्रुप के सीएमडी मनोज गौड़ ने बताया क‍ि बीते दो साल से रेजीडेंशियल रियल एस्‍टेट सेक्‍टर बेहद सकारात्मक रहा है. आरबीआई के फैसले से इसे और बढ़ावा मिलेगा. बाजार मौजूदा 6.5% रेपो दर पर तेजी से आगे बढ़ रहा है. प्रीमियम और लग्‍जरी परियोजनाओं की मांग अभूतपूर्व स्तर पर पहुंच गई है. 2023 रियल एस्टेट सेक्टर के लिए शानदार साल रहा है.

मकान खरीदारों में बढ़ेगा विश्‍वास
ग्रुप 108 के मैनेजिंग डायरेक्टर संचित भूटानी का कहना है कि बीते सात बार से रेपो रेट का न बढ़ना रियल एस्‍टेट और अर्थव्‍यवस्‍था के लिए सकारात्‍मक संकेत है. इस बार भी रेपो दर नहीं बढ़ी है जिसे आरबीआई का बदलता और सकारात्‍मक दृष्टिकोण माना जा रहा है. यह निर्णय घर खरीदारों और निवेशकों के विश्वास को मजबूत करेगा और पूरे सेक्‍टर को तेजी मिलेगी. एनसीआर में रियल एस्टेट की सेक्‍टर में निवेश को बढ़ावा मिलने की उम्मीद है. मध्‍य वर्ग के खरीदार भी तेजी से बढ़ रहे हैं.

ये भी पढ़ें – रेगिस्‍तान में तैरती हुई जाएंगी गाड़ियां! सफर में बचेंगे 13 घंटे, 4 राज्‍यों और 10 बड़े शहरों को सीधे होगा फायदा

सस्‍ता कर्ज मतलब सस्‍ता मकान
अंसल हाउसिंग के निदेशक कुशाग्र अंसल का कहना है कि रेपो दर को स्थिर रखने का आरबीआई का निर्णय सराहनीय है, क्योंकि यह ब्याज दरों में निश्चितता प्रदान करके इन्वेस्टर्स का भरोसा बढ़ाता है. कर्ज का सस्‍ता होना मतलब ग्राहकों को सस्‍ता मकान मिलना है. इससे पूरे रियल एस्‍टेट सेक्‍टर को जबरदस्‍त ग्रोथ मिलने का अनुमान है. इसके अलावा मिग्‍सन ग्रुप के मैनेजिंग डायरेक्‍टर यश मिग्‍लानी ने दावा किया कि आने वाला समय रियल एस्‍टेट सेक्‍टर के लिए बेहद पॉजिटिव है. कर्ज सस्‍ता होने से आवासीय और कॉमर्शियल प्रोजेक्‍ट में निवेश तेजी से बढ़ रहा है.

Tags: Financial institution Mortgage, Enterprise information in hindi, Dwelling mortgage EMI, The way to take an inexpensive house mortgage, Rate of interest of banks, Shaktikanta Das

Share this article
Shareable URL
Prev Post

तगड़ी बैटरी और शानदार कैमरे से लैस ये सस्ता स्मार्टफोन, अभी खरीदें महज 5,669 रुपये में

Next Post

खूंखार खून-खराबा, इंटीमेंट सीन…, ANIMAL पर मच रहा है बवाल, हो जाएं सतर्क, कहीं आपका बच्चा ना देख ले चुपचाप!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read next

4 लाख में शुरू करें ये बिजनेस, हर महीने होगी ₹50 हजार तक की कमाई, मुद्रा योजना के तहत सरकार भी करेगी मदद

नई दिल्ली. अगर आप बि‍जनेस करने का जज्बा है तो आप हर महीने अच्‍छी कमाई कर सकते हैं. इस काम में प्रधानमंत्री…

LIC शेयर दिखाने लगा जलवा, रिकॉर्ड हाई पर पहुंचे इस स्‍टॉक को खरीदें या बेचें?

हाइलाइट्स एलआईसी शेयर ने आज छुआ रिकॉर्ड हाई लेवल. नवंबर 2023 से ही इस शेयर में है तेजी बरकरार. ब्रोकरेज ने दी…

एक साथ आ रहे 4 आईपीओ, पैसा लगाने से पहले पढ़िए चारों की कुंडली, जान लीजिए रुपया बनेगा या डूबेगा

नई दिल्ली. भारतीय शेयर बाजारों में 2023 का साल काफी उत्साहजनक रहा. समझा जाता है कि यही उत्साह 2024 में भी जारी…

भारत बनाएगा खुद का मोबाइल ब्रांड, केंद्रीय मंत्री वैष्णव का ऐलान

हाइलाइट्स भारत में जल्द 2-3 सेमीकंडक्टर संयंत्र बनेंगे. बडे़ पैमाने पर मोबाइल निर्माण से अच्छी सीख मिली. इंडस ऐप…