``` वैवाहिक बलात्कार 'अपराध' नहीं है अगर... हाईकोर्ट का अहम फैसला, पति को किया बरी - टाइम्स ऑफ़ हिंदी
आपका स्वागत है! टाइम्स ऑफ़ हिंदी पर रंग-बिरंगी ख़बरों की दुनिया में!

वैवाहिक बलात्कार ‘अपराध’ नहीं है अगर… हाईकोर्ट का अहम फैसला, पति को किया बरी

प्रयागराज (यूपी). इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने कहा है कि यदि पत्‍नी की उम्र 18 वर्ष से अधिक है तो वैवाहिक बलात्कार को भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) के तहत अपराध नहीं माना जा सकता. अदालत ने एक पति को अपनी पत्‍नी के खिलाफ ‘अप्राकृतिक अपराध’ करने के आरोप से बरी करते हुए यह टिप्पणी की.

यह मानते हुए कि इस मामले में आरोपी को आईपीसी की धारा 377 के तहत दोषी नहीं ठहराया जा सकता, न्यायमूर्ति राम मनोहर नारायण मिश्रा की पीठ ने कहा कि इस देश में अभी तक वैवाहिक बलात्कार को अपराध नहीं माना गया है.

उच्च न्यायालय ने यह भी कहा कि चूंकि वैवाहिक बलात्कार को अपराध घोषित करने की मांग करने वाली याचिकाएं अभी भी सुप्रीम कोर्ट के समक्ष लंबित हैं, जब तक शीर्ष अदालत मामले का फैसला नहीं कर देती, जब तक पत्‍नी 18 वर्ष या उससे अधिक उम्र की नहीं हो जाती, तब तक वैवाहिक बलात्कार के लिए कोई आपराधिक दंड नहीं है.

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय की पिछली टिप्पणी का समर्थन करते हुए यह भी कहा कि वैवाहिक रिश्ते में किसी भी ‘अप्राकृतिक अपराध’ (आईपीसी धारा 377 के अनुसार) के लिए कोई जगह नहीं है.

शिकायतकर्ता ने अपनी याचिका में आरोप लगाया कि उनका विवाह एक अपमानजनक रिश्ता था और पति ने कथित तौर पर उसके साथ मौखिक और शारीरिक दुर्व्यवहार और जबरदस्ती की, जिसमें अप्राकृतिक यौनाचार भी शामिल था.

अदालत ने उसे पति या पति के रिश्तेदारों द्वारा क्रूरता (498-ए) और स्वेच्छा से चोट पहुंचाने (आईपीसी 323) से संबंधित धाराओं के तहत दोषी ठहराया, जबकि धारा 377 के तहत आरोपों से बरी कर दिया.

इस साल की शुरुआत में सुप्रीम कोर्ट वैवाहिक बलात्कार को अपराध मानने की याचिकाओं को सूचीबद्ध करने पर सहमत हुआ. केंद्र सरकार ने शीर्ष अदालत के समक्ष कहा था कि वैवाहिक बलात्कार को अपराध घोषित किए जाने से समाज प्रभावित होगा.

Share this article
Shareable URL
Prev Post

यहां नर्मदा नदी के शुद्ध जल से बनते हैं कुंदे के पेड़े, स्वाद के लोग हैं दीवान

Next Post

ये लड्डू ठंड के छुड़ा देगा पसीने, सर्दी-जुकाम के लिए रामबाण,आयुर्वेदिक डॉक्टर भी मानते हैं इसका लोहा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read next

‘कहीं देर ना हो जाए…’, गंभीर बीमारी से जूझ रहा मासूम, जल्‍दी चाहिए 17.5 करोड़ का इंजेक्‍शन

मेरठ.  एक ही मोहल्ले में चंद दिनों के अंदर दूसरे बच्चे में स्पाइऩल मस्कुलर एट्रॉफी टाइप टू की गंभीर बीमारी के…

UP Politics: संजीव राजपूत के लिए लकी है 15 का अंक, समाजवादी गढ़ इटावा में भाजपा जिलाध्यक्ष बने

भारतीय जनता पार्टी हाई कमान ने एक बार फिर से संजीव राजपूत पर विश्वास जताते हुए उन्हें इटावा जिला के भाजपा…

‘फ्री में मटन दे दो वर्ना…’ शॉप पर पहुंचा सिपाही, एसपी तक पहुंचा वायरल वीडियो, और फिर….

बस्ती. उत्तरप्रदेश के बस्ती जिले में शहर के रोडवेज रोडवेज बस अड्डे पर शराब के नशे में एक सिपाही ने जमकर हंगामा…

आजमगढ़: स्कूल प्रबंधन पर लटकी कार्रवाई की तलवार, डीएम के आदेश पर चार सदस्यीय टीम का गठन

अभिषेक उपाध्याय/ आजमगढ़: उत्तर प्रदेश में आजमगढ़ जिला के सिधारी थाना क्षेत्र के हरबंशपुर स्थित चिल्ड्रेन गर्ल्स…